बच्चा पैदा करने का तरीका और बच्चे पैदा करने की विधि ( मात्र 6 कदम ) Best Guide 2023

बच्चा पैदा करने का तरीका और बच्चे पैदा करने की विधि ( मात्र 6 कदम ) 2024

Bacha Paida Kaise Kare in Hindi: – बच्चा पैदा करने का तरीका? इन्टरनेट के इस काल युग में हर कोई एक उम्र के बाद शादी करता है जिसके बाद वह अपने व्यवाहिक जीवन को शुरू करके परिवार को बढाने अथार्थ बच्चा पैदा करने के ऊपर विचार करता है

यहाँ ऐसे बहुत सारे लोग होतें है जिनको बच्चा पैदा करने की विधि के बारे में मुख्य रूप से सही इनफार्मेशन नहीं होती है इस युग में कुछ ऐसे विशेष तरीके है जिनका उपयोग करके बच्चा पैदा किया जा सकता है

ऐसे बहुत सारे लोग है जो किसी न किसी गंभीर बीमारी के कारण, स्पर्म में समस्या, क़ानूनी अड़चन के कारण, गर्भ में समस्या आदि के कारण माता पिता नहीं बन पातें है लेकिन जो स्त्री और पुरुष किसी गंभीर बीमारी से गुजर रहे है वह सभी लोग माँ बाप बन सकतें है

हाँ भाई यह पुरी तरह से सच है क्योकि दुनिया में विज्ञानं के कारण ऐसे बहुत सारे तरीकें है जिनका उपयोग करके बच्चा पैदा किया जा सकता है मैं जानता हूँ कि अभी आपको मेरी बात मजाक लग रही होंगी लेकिन इस लेख को पढने के बाद आप सब कुछ अच्छे से समझ जायेंगे

बच्चा पैदा करने का तरीका और बच्चे पैदा करने की विधि ( मात्र 6 कदम ) Best Guide 2023

स्त्री और पुरुष दोनों की उम्र बढ़ने के साथ बच्चा पैदा करने में समस्या होना मुख्य रूप से स्वाभिक है क्योकि उम्र बढ़ने के साथ साथ स्त्री और पुरुष दोनों के शरीर में गंभीर बीमारियाँ, हार्मोन की कमी का होना, स्वस्थ समस्या, आदि होने लगती है

जिसके कारण उनको माता पिता बनाने में कई तरह की परेशानी का सामना करना पड़ता है लेकिन सभी मनुष्य को इस बात का विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए कि बच्चा पैदा करने का प्लान बनातें समय, स्त्री और पुरुष दोनों के स्वस्थ का सही होना सबसे महत्वपूर्ण होता है

क्योकि इसका सीधा असर पैदा होने वाले बच्चे के ऊपर पड़ता है चलिए अब हम यह जान लेतें है कि स्वस्थ बच्चा पैदा करने के लिए सर्वोत्तम तैयारी कैसे करें?

स्वस्थ बच्चा पैदा करने के लिए सर्वोत्तम तैयारी कैसे करें?

Table of Contents

स्वस्थ बच्चा पैदा करने के लिए सर्वोत्तम तैयारी में आप कुछ महत्वपूर्ण बातो का विशेष रूप से ध्यान रख सकती है क्योकि ऐसा करके आप अपनी प्रेगनेंसी को बेहतर बना सकती है –

  • हमेशा पोष्टिक आहार खाए, हरी सब्जियां, दूध, घी, को अपने भोजन में जरुर डालें क्योकि यह आपके स्वस्थ को बेहतर बनातें है जिससे आपकी प्रेगनेंसी स्वस्थ रहती है
  • सही समय अथार्थ ओव्यूलेट होने से पहले संबंध बनाएं
  • सही उम्र में प्रेगनेंसी कंसीव करें क्योकि महिलाओ में 35 वर्ष की उम्र के बाद प्रजनन क्षमता कम होने लगती है
  • पुरुष की उम्र का ध्यान रखे क्योकि 40 वर्ष से अधिक उम्र पर पुरुषो के स्पर्म की क्वालिटी कम होने लगती है इसीलिए सही समय पर बाप बने
  • महिला प्रेगनेंसी के समय फोलेट, आयोडीन, विटामिन डी, जिंक और सेलेनियम को अपने खाने में जरुर ले
  • स्त्री और पुरुष दोनों अपने वजन को सही रखे क्योकि अधिक वजन होने के कारण आपके ओव्यूलेशन में दिक्कत आ सकती है और पुरुष का अधिक वजन होना उसके प्रजनन क्षमता पर असर डालता है
  • प्रेगनेंसी के दौरान स्त्री को अपने नियमित दिनचार्य में एक्सरसाइज को जोड़ना चाहिए
  • किसी भी प्रकार का नशा नहीं करना चाहिए अथार्थ शराब, ड्रग्स, तम्बाकू और स्मोकिंग न करें
  • बिना डॉक्टर की सलाह के किसी भी प्रकार की दवा का उपयोग न करें

बांझपन क्या होता है?

जब स्त्री और पुरुष दोनों बच्चा पैदा करने में असमर्थ रहतें है तो उस समय इस स्थिति में हम बांझपन कहतें है हम सब जानतें है कि भारत दुनिया में सबसे अधिक आबादी वाली देश है ऐसे में इस देश में अधिकतर महिलाए अथार्थ स्त्री बच्चा पैदा करती है

लेकिन यहाँ लोग संबंध बनाने के पहले महीने में ही सफल हो जाती है परन्तु बहुत कम लोग ऐसे होतें है जो लगातार एक साल तक संबंध बनाने के बाद भी बच्चा पैदा करने में सफल नहीं हो पातें है जिनको नफर्टाइल अथार्थ बांझपन समझा जाता है

लेकिन स्त्री और पुरुष जब तक कम से कम एक साल तक बच्चा पैदा करने का प्रयास न करे तब तक उनको अपनी स्थिति को बांझपन नहीं समझना चाहिए न ही इसके लिए किसी भी प्रकार की दवाई का उपयोग करना चाहिए

क्योकि जब तक आप दोनों मेडिकल रूप से उस कारण को नहीं पकड लेते है जिसकी वजह से आप माता पिता नहीं बन पा रहे है तब तक आपको किसी भी प्रकार की दवाई का उपयोग बिना डॉक्टर को दिखाए नहीं करना चाहिए

बच्चा पैदा करने का तरीका? ( Bacha Paida Karne Ka Tarika Bataye? )

आज के समय में बच्चा पैदा करने के दो तरीके उपलब्ध है जिनका उपयोग करके स्त्री और पुरुष बच्चा पैदा कर सकतें है लेकिन इन तरीको का उपयोग करने से पहले आपको इनको अच्छे से समझना होगा इन सभी मुख्य तरीको के बारे में हमने इस लेख में इनफार्मेशन दिया है

  1. संबंध बनाकर बच्चा पैदा करना
  2. स्पर्म और अंडे और फ्रीज़ करके

संबंध बनाकर बच्चा पैदा करना

इस सबसे मुख्य तरीके के बारे में हर कोई व्यक्ति जानता है जिन लोगो को नहीं पता है उनको मैं बता दूं कि इस तरीके का उपयोग करके पति पत्नी अपनी इच्छा अनुसार, एक दुसरे के साथ शारीरिक संबंध बनातें है जिसके बाद पुरुष का स्पर्म महिला के गर्भ तक पहुँचता है

ऐसे में जब महिला के शरीर में अंडा रिलीज होता है तो महिला के प्रेग्नेंट होने की सम्भावना सबसे अधिक रहती है जिसके बाद उसके गर्भ में बच्चे का निर्माण होना शुरू हो जाता है

स्पर्म और अंडे और फ्रीज़ करके

हाँ, यह भी एक अच्छा तरीका है इसमें पुरुष के स्पर्म और महिला के अंडे से बने भ्रूण को सुरक्षित रखने के लिए उसके फ्रीज़ करती है यह तरीका पुरी तरह से विज्ञानं के ऊपर आधारित है इसको समझने के लिए आपको यह समझना होगा कि यह भ्रूण क्या होता है?

भ्रूण क्या है?

स्त्री के गर्भ में अंडे और पुरुष के स्पर्म से मिलने पर भ्रूण का निर्माण होता है क्योकि जब कोई स्त्री और पुरुष एक दुसरे के साथ शारीरक संबंध बनातें है तो ऐसे में पुरुष के केवल एक स्पर्म से महिला के गर्भ में स्थित अंडे को फर्टिलाइज किया जा सकता है

स्त्री के गर्भ में जो अंडा, पुरुष के स्पर्म से फर्टिलाइज हो जाता है उसको हम जायगोट कहतें है फर्टिलाइज होने के बाद जब यह जायगोट महिला के गर्भ में बढ़ाने लगता है तो यह कोशिकाओ की एक खोखली गेंद के रूप में बदल जाता है

जिस संरचना को हम ब्लास्टोसिस्ट बोला जाता है यह ब्लास्टोसिस्ट स्त्री के गर्भ में पहुँचने के बाद गर्भाशय की दीवार से चिपकता है जिसके बाद भ्रूण बनता है भ्रूण को हम लोग इंग्लिश में Embryos बोलतें है

कई बार ऐसा होता है कि स्त्री के अंडे या पुरुष के स्पर्म में कमी होती है ऐसे में लोग लैब के अंदर अपने स्पर्म या महिला के अंडे को फ्रीज़ करके रखतें है जो स्त्री और पुरुष अधिक उम्र में माता पिता बनना चाहतें है वह भी इस तरीके का उपयोग सबसे अधिक करतें है

क्योकि इस तरीके में स्त्री के अंडाशय से अंडे को निकलकर फर्टिलाइज करने के बाद भ्रूण का निर्माण करके उसे फ्रीज कर दिया जाता है जिसके बाद सही समय पर इस भ्रूण को महिला के गर्भाशय में डाला जाता है

जिसके बाद यह प्रक्रिया सफल होने पर यह भ्रूण महिला के पेट में बच्चे का निर्माण करना शुरू कर देता है

बच्चा पैदा करने के लिए किन बातें का ध्यान रखे?

बच्चा पैदा करने के लिए आपको कुछ बातें का विशेष रूप से ध्यान रखना होगा यह इस प्रकार है –

  • जीवन को हेल्थी बनाना शुरू करें
  • नशा करना बिल्कुल पूर्ण रूप से बंद करें
  • महिला के ओव्यूलेशन समय का ध्यान रखे
  • स्मोकिंग को हमेशा के लिए बंद करें
  • गर्भनिरोधक का उपयोग बिल्कुल न करें
  • सही उम्र में संबंध बनाएं
  • संबंध बनाने के बाद थोड़ी देर आराम करें
  • तम्बाकू का सेवन बंद करें
  • तनाव से हमेशा मुख्य रहे
  • लुब्रिकेंट्स का उपयोग न करें
  • अपने अंडकोष को हीट से हमेशा दूर रखे
  • दवाई का उपयोग न करें

बच्चे पैदा करने की विधि? ( मात्र 6 स्टेप्स का उपयोग करें हो जायेगा बच्चा )

कुछ लोग ऐसे होतें है जो सर्च इंजन में यह लिखकर सर्च करतें है कि बच्चे पैदा करने की विधि क्या है? लेकिन इस लेख में हम उन सभी लोग को बच्चा पैदा करने की विधि के बारे में अच्छे से समझा देंगे इस पुरी विधि में कुछ स्टेप्स है जिनको फॉलो करके हर स्त्री और पुरुष बच्चा पैदा कर सकता है

लेकिन इस पुरे तरीके का उपयोग लड़का और लड़की एक दुसरे की इच्छा होने के बाद ही करें क्योकि हम ऐसे किसी भी काम का समर्थन नहीं करतें है जो सामाजिक या क़ानूनी रूप से सही नहीं है

  1. स्त्री के ओव्यूलेशन समय का पता करें
  2. शांत माहोल का चुनाव करें
  3. फॉरप्ले करके माहोल को सेट करें
  4. प्राइवेट पार्ट का उपयोग करें
  5. पसंदीदा पोजीशन का उपयोग करें
  6. स्पर्म को सही जगह डालना

स्त्री के ओव्यूलेशन समय का पता करें

बच्चा पैदा करने की संभावना स्त्री के गर्भ में ओव्यूलेशन के समय के दौरान सबसे अधिक रहती है इसीलिए सबसे पहले आपको ओव्यूलेशन के समय का ध्यान विशेष रूप से रखना होगा यह महिला के पीरियड से पहले का समय होता है

साधारण भाषा में, हम कह सकतें है कि यह समय हर महीले के पीरियड आने के लगभग 14 दिन बाद शुरू हो जाता है अगर आप अपने पार्टनर के साथ संबंध बनाकर बच्चा पैदा करना चाहतें है

तो आपको इस समय में अपने पार्टनर के साथ शारीरिक संबंध को बनाना यह नीचे के सभी स्टेप्स को स्टेप बाई स्टेप फॉलो करना होगा

शांत माहोल का चुनाव करें

क्योकि बच्चा पैदा करने के लिए स्त्री और पुरुष दोनों को एक साथ संबंध बनाने होतें है ऐसे में उनके पास एक शांत जगह का होना बहुत जरुरी है अथार्थ कुछ लोग इसको प्राइवेट जगह भी बोल सकतें है अगर आपकी नयी शादी हुई है या आप बॉयफ्रेंड – गर्लफ्रेंड है

तो यह जगह कोई होटल रूम, घर पर अपना कमरा हो सकता है जहाँ केवल स्त्री और पुरुष हो

फॉरप्ले करके माहोल को सेट करें

अब क्योकि आपकी जगह बिल्कुल शांत और प्राइवेट है तो ऐसे में अब आप दोनों को बेहतर संबंध बनाने के लिए माहोल को बनाना होगा जिसमे आप दोनों एक दुसरे के साथ Forplay को शुरू करतें है

अधिकतर लोग इस कार्य को किस करके शुरू करतें है जिसके बाद वह संबंध बनाने के लिए एक दुसरे के मूड को बनातें है

प्राइवेट पार्ट का उपयोग करें

जब आप दोनों अपने हिसाब से अभी तक मूड को बनाने के लिए सभी पसंदीदा काम को कर लेतें है तो इसके बाद अब बच्चा पैदा करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण काम को आप करतें है जिसमे आप दोनों अपने प्राइवेट पार्ट का उपयोग करतें है

यहाँ पुरुष अपने प्राइवेट पार्ट को स्त्री के प्राइवेट पार्ट में धीरे से डालता है अगर स्त्री के प्राइवेट पार्ट में हायमन झिल्ली है

तो इस समय वह टूट जायेगी इस समय के दौरान स्त्री को थोडा दर्द का अनुभव हो सकता है साथ ही उसके प्राइवेट पार्ट से थोडा रक्त निकल सकता है यहाँ आप इस रक्त को साफ़ कर लेतें है

पसंदीदा पोजीशन का उपयोग करें

अब आपको अपने पार्टनर के साथ संबंध बनातें समय अपनी इच्छा के अनुसार अलग अलग पोजीशन का उपयोग करना है यहाँ पुरुष स्त्री के प्राइवेट पार्ट में डाले अपने प्राइवेट पार्ट को धीरे धीरे अंदर बाहर करतें रहतें है

इस दौरान आप दोनों एक दुसरे के साथ रोमांटिक बातें कर सकतें है क्योकि यह आपके माहोल को अधिक बढ़ा देता है

स्पर्म को सही जगह डालना

जब पुरुष का प्राइवेट पार्ट स्त्री के प्राइवेट पार्ट में रहता है तो ऐसे में जब पुरुष के प्राइवेट पार्ट से स्पर्म निकलता है तो वह उसको स्त्री के प्राइवेट पार्ट में निकाल देता है जिसके बाद यह स्पर्म महिला के गर्भाशय में रह जाता है यह स्पर्म महिला के गर्भ में लगभग 4 से 5 दिनों तक जीवित रहता है

अब क्योकि यह महिला के ओव्यूलेशन का समय चल रहा है तो जब उसके शरीर में अंडाणु अंडे को रिलीज करेंगे तो वह अंडा स्त्री के fallopian ट्यूब के माध्यम से उसके गर्भ में जाकर स्पर्म से मिलकर फर्टीलाइज हो जाता है इस स्थिति के होने के बाद स्त्री के पेट में बच्चे का निर्माण शुरू हो जाता है

नोट – क्योकि हर महिला का ओव्यूलेशन समय लगभग 14 दिनों का रहता है यह महिला के पीरियड से पहले का समय होता है

इसीलिए हर स्त्री को बच्चा पैदा करने के लिए अपने इस समय के दौरान हर तीसरे दिन अपने पुरुष पार्टनर के साथ संबंध बनाने चाहिए या बच्चा पैदा करने की विधि को करना चाहिए

बच्चा पैदा करने के ओव्यूलेशन के समय में संबंध क्यो बनाएं?

क्योकि हर स्त्री के शरीर में स्थित अंडाणु, ओव्यूलेशन के समय के दौरान अंडे को रिलीज करतें है क्योकि स्त्री माँ तब बनती है जब यह अंडा पुरुष के स्पर्म में स्थित शुक्राणु से मिलता है हम सब जानतें है कि महिला के शरीर में अंडाणु से निकला अंडा 24 घंटें के अंदर फर्टीलाइज होना चाहिए

इसीलिए महिला के ओव्यूलेशन के समय में हर तीसरे दिन अथार्थ 72 घंटें में संबंध बनाने चाहिए क्योकि स्त्री के गर्भ में पुरुष का स्पर्म लगभग 72 घंटें जीवित रहता है जो स्त्री और पुरुष ऐसा करतें है

उनके माता पिता बनने की सम्भावना सबसे अधिक रहती है क्योकि ऐसा करने से महिला के गर्भ में शुक्राणु और अंडे का मिलना हो जाता है

क्या प्रेग्नेंट होने के बाद, स्त्री के साथ संबंध बनाना सही और सुरक्षित होता है?

हाँ, प्रेग्नेंट होने के बाद स्त्री के साथ संबंध बनान सुरक्षित होता है लेकिन पुरुष और स्त्री दोनों को इस प्रेगनेंसी के दौरान संबंध बनाने पर कोंडम का उपयोग मुख्य रूप से करना चाहिए क्योकि यह स्त्री, पुरुष और बच्चे तीनो को इन्फेक्शन से बचाता है

इसी के साथ संबंध बनाने के दौरान साइड-बाए-साइड स्पूनिंग और एज पर सीट पोजीशन का उपयोग करें क्योकि यह प्रेगनेंसी के दौरान स्त्री और पुरुष दोनों के लिए पुरी तरह से कम्फ़र्टेबल रहती है

लेकिन कुछ कंडीशन में प्रेगनेंसी के दौरान, स्त्री के साथ संबंध न बनायें यह समय प्रेग्नंक्ट के शुरू में आपको अधिक ब्लीडिंग होना ( खून जाना ), सरवाइकल वीकनेस होना, प्राइवेट पार्ट में इन्फेक्शन होना आदि हो सकतें है

महिला के लड़का होगा? लोगो के मन में यह सभी गलत विचार?

आज के ज़माने में बहुत कम लोगो के मन में लड़का या लड़की के लिए भेदभाव रहतें है लेकिन कुछ ऐसी गलत बातें है जो लड़का होने के लिए लोगो के मन में रहती है यहाँ हमने उन सभी को मेंशन किया है यह सभी बातें पुरी तरह से गलत है इसीलिए इन सभी को अपने दिल और दिमाग से बाहर करें –

  • संबंध बनाने के दौरान, महिला का ऑगैज्म जल्द आने से बच्चा लड़का होता है
  • स्त्री के ओव्यूलेशन के अगले दिन या आखिरी दिन में संबंध बनाने पर लड़का होता है
  • बाईं तरफ करवट लेकर सोने से बच्चा के लड़का होने की संभावना अधिक होती है
  • लड़का होने के लिए संबंध बनाने का कोई ख़ास समय नहीं होता है
  • संबंध बनाने की संख्या सम होने पर, लड़का होता है
  • स्त्री के संबंध बनाने से पहली पहले खासी की दवाई पीने से बच्चा लड़का होता है
  • स्त्री के कॉफ़ी पीने से लड़का होने के चांस अधिक रहतें है
  • मिशनरी या डॉगी स्टाइल पोजीशन का उपयोग संबंध बनाने के दौरान करने से लड़का होता है
  • अधिक नाशता खाने से भी लड़का होता है यह बात पुरी तरह से गलत है

नोट – मार्किट में लड़का होने के लिए या लड़की होने के लिए मिलने वाली किसी भी प्रकार की दवाई का उपयोग करके अपनी और अपने बच्चे की जान को खतरे में न डाले हम इन सभी कामो का सख्त मना करतें है

Read More Articles: – 

आपने क्या सीखा

यहाँ इस आर्टिकल में हमने विशेष रूप से बच्चा पैदा करने के लिए क्या करना चाहिए? के विषय के ऊपर सही इनफार्मेशन को शेयर किया है

मुझे उमीद है कि आप सभी को बच्चा पैदा करने का तरीका? के बारे में सब कुछ समझ आ गया होगा फिर भी अगर आपका कुछ सवाल है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में मुझसे पूछ सकते है

Credit By = itznitinsoni

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top