Bounce Rate Ko Kaise Kam Kare in Hindi Best Complete Guide 2022

Share Now

Contents hide
1 Bounce Rate क्या है Bounce Rate को कैसे कम करे | Best Complete Guide in Hindi 2022

Bounce Rate क्या है Bounce Rate को कैसे कम करे | Best Complete Guide in Hindi 2022

Bounce Rate Ko Kaise Kam Kare in Hindi : Topic देखकर आप सभी लोग समझ गए होंगे की आज किस बारे में बात होगी आज के बाद आपको Bounce Rate Kya Hai, What is bounce rate in SEO, What is Bounce rate in Hindi आदि google में search करने की जरुरत नहीं पढेगी क्योकि इस article में Bounce Rate से related लगभग सब कुछ है तो friends मेरा नाम है नितिन सोनी ( itznitinsoni ) आज हमारा प्लेटफार्म NS article है

क्या आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का Bounce Rate बढ़ गया है क्या आप भी Bounce Rate के बारे में कुछ नहीं जानते है कोई बात नहीं आज में आपको इसका Solution दे दूंगा लेकिन अगर आप एक ब्लॉगर है तो आप ने इसका नाम कही न कही जरुर सुना या देखा होगा जब भी आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट की रैंकिंग चेक करते है तो आपको आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का बाउंस रेट भी देखता है हर कोई ब्लॉगर अपनी वेबसाइट या ब्लॉग के बाउंस रेट को हमेशा कम ही देखने की इच्छा रखता है

Bounce Rate Ko Kaise Kam Kare in Hindi Best Complete Guide 2022
Bounce Rate Ko Kaise Kam Kare in Hindi Best Complete Guide 2022

अगर आपके ब्लॉग या वेबसाइट का बाउंस रेट ज्यादा है तो इससे आपकी वेबसाइट की Authority या Domain Authority और रैंकिंग दोनों ही कम हो जाती है या फिर गिरने लगती है बाउंस रेट गूगल को साईट का यूजर के लिए अच्छा न होना देखता है जो कि आपके और आपकी वेबसाइट के लिए अच्छी नहीं होती है आपको यह पता होना चाहिए कि यह आपकी वेबसाइट के SEO के लिए बहुत ही जयादा इम्पोर्टेन्ट फैक्टर होता है

आपको बता दू कि नयी वेबसाइट या ब्लॉग पर बाउंस रेट का बढ़ना या घटना कॉमन बात रहती है लेकिन अगर आपकी वेबसाइट या ब्लॉग पुराना है और आपकी वेबसाइट का बाउंस रेट ज्यादा है तो इसमें या तो आपको Bounce Rate की सही जानकारी नहीं है या आपकी वेबसाइट सही में एक स्पैम वेबसाइट है लेकिन बाउंस रेट को कम करने का Solution तो में आपको दे ही दूंगा

जैसा कि मैंने ऊपर बताया है कि आज में आपको Bounce Rate के बारे में सब कुछ बताऊंगा तो Bounce Rate Ko Kaise Kam Kare से पहले हमको  Bounce Rate Kya Hai यह समझना है

Bounce Rate Kya Hai | What is Bounce rate in Hindi | बाउंस रेट क्या है

क्या आप बाउंस का मीनिंग जानते है बाउंस का मीनिंग होता है उछलना या कूदना | अगर कोई यूजर या विजिटर आपकी वेबसाइट पर आपकी किसी ब्लॉग पोस्ट को पढने के लिए आता है तब अगर वो यूजर या विजिटर उस ब्लॉग पोस्ट को पढ़कर बिना किसी दूसरी ब्लॉग पोस्ट को पढ़े आपकी वेबसाइट या आपके ब्लॉग से चला जाता है तो इसी प्रोसेस के यूजर के नंबर के एक औसत को हम सभी Bounce Rate कहते है

अगर ऊपर बताया हुआ प्रोसेस आपके ब्लॉग या वेबसाइट के साथ भी होता है तो सर्च इंजन गूगल इससे यह समझता है कि आपके ब्लॉग की ब्लॉग पोस्ट interesting या High Quality नहीं है अगर इसकी वजह कि बात करू तो वो आपके ब्लॉग की ब्लॉग पोस्ट की Headings का Attractive नहीं होना या आपके ब्लॉग का डिज़ाइन अच्छा न होना यह कारण हो सकते है

अगर आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का Bounce Rate बढ़ जाता है तो जाहिर सी बात है कि आपका ब्लॉग या वेबसाइट भी Google में रैंक नहीं करेगा आपको बता दू कि अच्छी वेबसाइट या ब्लॉग का बाउंस रेट 10% से कम माना जाता है और अगर आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का बाउंस रेट 40% से 80 % के बीच में है तो आपको का लेवल मीडियम लेवल पर है



  • Guest Post कैसे करे 

अगर आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का बाउंस रेट 90% से ज्यादा है तो गूगल की नजरो में आपकी वेबसाइट या ब्लॉग में किसी भी यूजर या विजिटर को इंटरेस्ट नहीं होता है बस आपको इसमें यह समझ लेना है कि आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का Bounce Rate जितना कम होगा आपकी वेबसाइट के लिए उतना ही फायदेमंद होगा

आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का Bounce Rate कितना रहना चाहिए | How much should be the bounce rate of your website or blog.

जैसा कि मैंने आपको ऊपर बताया कि अगर आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का Bounce Rate 1 से 10% के बीच में है तो आपकी वेबसाइट को गूगल बहुत अच्छा मानता है 10% से नीचे आपकी वेबसाइट या ब्लॉग को गूगल दुनिया की सबसे कामियाब websites की list में जगह देता है और अगर आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का Bounce Rate 10% से ऊपर और 40% से नीचे तब भी आपकी वेबसाइट को गूगल एक बढ़िया वेबसाइट मानता है

इसके बाद जैसा कि मैंने आपको ऊपर भी बताया है कि अगर आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का बाउंस रेट 40% से 80 % के बीच में है तो आपको का लेवल मीडियम लेवल पर है यह वो लेवल होता है जिसमे गूगल काम चलाऊ वेबसाइट या ब्लोग्स को रखता है

अब अगर आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का बाउंस रेट इससे भी जयादा है यानी 70% से ज्यादा और 90% से कम है तब आपको अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर बाउंस रेट को कम करने के लिए ज्यादा ध्यान देने की जरुरत होती है यह आपकी वेबसाइट या ब्लॉग की category या पेर्फोमांस के हिसाब से अलग अलग हो सकता है

अब अगर आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का बाउंस रेट 90% से ऊपर हो जाता है तो ऐसी वेबसाइट या ब्लॉग गूगल के यूजर के लिए किसी भी काम की नहीं होती है और न ही गूगल ऐसी वेबसाइट या ब्लॉग को रैंक करता है

Service के According Websites Bounce Rate ( बाउंस रेट )

  1. सामग्री ( कंटेंट ) वाली वेबसाइटें – 40-60%
  2. ब्लॉग ( Blog ) – 70-98%
  3. कोई भी सेवा प्रदान करने वाली वेबसाइट ( Service Provider )  – 10-30%
  4. लीड जनरेट करने वाली वेबसाइटें – 30-50%
  5. खुदरा ( Retailer ) व्यापार स्थल – 20-40%
Bounce Rate Ko Kaise Kam Kare in Hindi Best Complete Guide 2022
Bounce Rate Ko Kaise Kam Kare in Hindi Best Complete Guide 2022

किन कारण की वजह से Bounce Rate ज्यादातर बढ़ता है | Due to which reason the bounce rate increases mostly

वैसे तो यह बहुत सी चीजो की वजह से बढ़ जाता है जैसे –

  1. Content की Headings और Sub Headings का Attractive न होना
  2. वेबसाइट या ब्लॉग का डिज़ाइन सही न होना
  3. वेबसाइट या ब्लॉग पर केवल एक ही पेज का होना
  4. Value or Quality Content वेबसाइट या ब्लॉग पर न होना
  5. वेबसाइट या ब्लॉग का देरी से खुलना यह Loading Time ज्यादा होने की वजह से होता है
  6. आपका Content यूजर को अच्छा नहीं लगना
  7. ब्लॉग पोस्ट में Internal linking अच्छी नहीं होना

Bounce Rate बढ़ने से SEO पर क्या प्रभाव पड़ता है | How does increasing Bounce Rate affect SEO?

क्या आप यह बात नहीं जानते है कि आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का Bounce Rate बढ़ने से आपकी वेबसाइट या ब्लॉग के SEO पर क्या प्रभाव पड़ता है कोई नहीं में आपको बताता हु कि इससे आपकी वेबसाइट की राकिंग पर क्या असर पड़ेगा जैसा कि मैंने आपको ऊपर बताया है कि जैसे जैसे आपकी वेबसाइट या ब्लॉग के Bounce Rate की % बढती जाती है वैसे वैसे आपके ब्लॉग या वेबसाइट की category बदलती जाती है

अगर आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का बाउंस रेट बढ़ जायेगा तो सर्च इंजन गूगल को यह पता चल जाता है कि इस वेबसाइट या ब्लॉग का Content यूजर को पसंद या अच्छा नहीं लगता है तो इससे गूगल को आपके ब्लॉग या वेबसाइट के लिए एक Negative Point मिल जाता है और इससे आपके ब्लॉग की रैंकिंग भी गिरने लगती है, वेबसाइट या ब्लॉग का ट्रैफिक भी डाउन होने लगता है, आपकी Google Adsense Earning भी कम होने लगती है

आपको इन सभी चीजो में एक बात बिल्कुल भी समझ नहीं आ रही होगी कि अगर विजिटर आपकी ब्लॉग पोस्ट पर आएगा और जो उसको जानकारी चाहिए वो लेगा और चला जायेगा और आपके ब्लॉग या वेबसाइट का बाउंस रेट बढ़ जायेगा



आपकी बात सही है लेकिन जब विजिटर आपकी ब्लॉग पोस्ट को पढता है उसमे internal और external linking की मदत से आपकी और भी ब्लॉग पोस्ट पर जाता है तो आपका बाउंस रेट सही रहता है अगर विजिटर आपकी उस ब्लॉग पोस्ट से जानकारी लेता है और बाकि पोस्ट पर नहीं जाता तो गूगल यह भी देखता है कि वो यूजर उस जानकरी को किसी और दूसरी वेबसाइट या ब्लॉग पर जाकर तो नहीं देख या पढ़ रहा है उसके बाद ही आपका बाउंस रेट बढ़ता है

अब आपको Bounce Rate का पूरा प्रोसेस क्लियर हो गया होगा अब हम Bounce Rate Ko Kaise Kam Kare के बारे में जानेंगे

Bounce Rate Ko Kaise Kam Kare in Hindi | Bounce Rate को कम कैसे करें?

ऐसे बहुत से तरीके है जिनको ध्यान में रख कर आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग के Bounce Rate को कम कर सकते है जैसे –

अपने Blog की Looking ( डिज़ाइन ) को अच्छा रखे 

आपको अपनी वेबसाइट या ब्लॉग के Design  को यूजर के लिए एकदम Attractive रखना है इससे आपके यूजर को एक ब्लॉग पर बने रहने के लिए Attraction मिलती है आपको बता दू कि यूजर सबसे पहले आपकी वेबसाइट या ब्लॉग के design को समझता है उसके बाद वो उस वेबसाइट या ब्लॉग के Content को पढता है  इसीलिए जितना हो सकते उतना अपने ब्लॉग को यूजर के Use करने के लिए Easy और Attractive बनाये

Bounce Rate Ko Kaise Kam Kare in Hindi Best Complete Guide 2022
Bounce Rate Ko Kaise Kam Kare in Hindi Best Complete Guide 2022

उसका color कॉम्बिनेशन भी एकदम प्रोफेशनल रखने का प्रयास करे अपनी वेबसाइट या ब्लॉग के text Font को भी Easy रखे जिससे यूजर को आपकी वेबसाइट या ब्लॉग पर किसी भी चीज को पढने में कोई भी दिक्कत या परेशानी न हो अपनी वेबसाइट के लिए आप paid और Free दोनों में से किसी भी थीम का इस्तेमाल कर सकते है आजकल सभी थीम लाइट वेट होते है

अपनी Blog Post की Internal Linking को अच्छा रखे 

अगर आप एक ब्लॉगर है तो आपको यह बात जरुर पता होनी चाहिए कि Internal Linking किसी भी ब्लॉग या वेबसाइट के ON Page SEO के लिए बहुत ही ज्यादा इम्पोर्टेन्ट पॉइंट होता है आपकी वेबसाइट के बाउंस रेट को बढाने और कम करने में इसका बहुत बड़ा रोले होता है अगर आप इसको सही और यूजर attractive तरीके से करते है तो आपको इससे बहुत ही ज्यादा फायदा होता है लेकिन आपको अपने टॉपिक से अलग internal linking नहीं करनी चाहिए

आप जिस भी टॉपिक पर अपनी ब्लॉग पोस्ट को लिख रहे है आपको उससे related ही internal linking अपने article में करनी चाहिए इससे यूजर के उस पर क्लिक करने के चांसेस बहुत ज्यादा रहते है अगर आप internal linking अपनी ब्लॉग पोस्ट में नहीं करते है

तो इससे आपका Bounce Rate बढ़ जाता है इसके साथ ही अपनी internal linking को एक नए Tab में खुलने वाले आप्शन को आपको जरुर ON करना चाहिए यह आपके यूजर की टॉपिक को अच्छे से समझने में हेल्प करता है

अपने Blog के Content Quality को अच्छा रखे 

अगर आप एक ब्लॉगर है तो आपको यह पता जरुर होगा कि Content is King और आपके ब्लॉग या वेबसाइट का Unique और Content Quality आपकी वेबसाइट या आपके ब्लॉग के Bounce Rate को भी कम कर सकता है जैसा कि मैंने आपको ऊपर भी बताया है कि अगर आपके ब्लॉग पर अच्छा content नहीं है तो यूजर आपके ब्लॉग या वेबसाइट की एक ही ब्लॉग पोस्ट को पढ़कर आपकी वेबसाइट से Back चला जाता है

फिर वह यूजर उसी टॉपिक को किसी और दूसरी वेबसाइट पर जाकर पढता है अगर आपके ब्लॉग पर भी ऐसा होता है तो आपका ब्लॉग या वेबसाइट गूगल के किसी भी काम की नही है इसीलिए आपको अपनी वेबसाइट या ब्लॉग की value बढाने के लिए आपको अपनी वेबसाइट पर अपने users को valuable Content देना होगा और ऐसा करने के बाद धीरे धीरे आपका ब्लॉग भी उठने लग जायेगा



आपको बता दू कि अब गूगल किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग को रैंक करने के लिए भी केवल उसका content देखता है अगर आप फिर भी अपने ब्लॉग पर Low Value Content देते है तो आपकी वेबसाइट गूगल में रैंक नहीं करेगी और आपका Content भी गूगल के लिए एक कूड़े के बराबर होगा

अपने Blog के Content का Format अच्छा रखे 

आप सोच रहे होंगे कि ये इस article में क्यो है लेकिन जब ऊपर कंटेंट की बात हुई तो मुझे लगा कि मुझे आपको इसके बारे में भी बताना चाहिए अगर आप अपने ब्लॉग के Content के Format को जितना अच्छा रखेंगे आपको इससे भी फायदा होगा और अगर आप अपने Content में बड़ी चीजो को छोटी करके समझा देते है तो यूजर आपके ब्लॉग पोस्ट को जरुर पढ़ते है क्योकि आजकल यूजर ब्लॉग पोस्ट को पढने से पहले उस में खर्च होने वाले समय को देखते है

इसके लिए आप अपनी ब्लॉग पोस्ट में Numbers Point और Bullet Point का भी इस्तेमाल कर सकते है और अपनी ब्लॉग पोस्ट को एक Attractive Format Look दे सकते है इसके साथ ही अपने पैराग्राफ को 2 से 3 Lines तक ही छोटा रखे और अपनी ब्लॉग पोस्ट के Title और Meta description से भी अपने ब्लॉग के यूजर को Attract करे यानी आपने ब्लॉग पोस्ट की तरफ खीचे |

अपने Blog के Load Time को अच्छा रखे 

आप सभी लोग जानते होगे कि आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का Loading Time आपकी वेबसाइट की रैंकिंग के लिए कितनी ज्यादा इम्पोर्टेन्ट है और यह आपकी वेबसाइट के SEO पर भी इफ़ेक्ट डालता है देखा जाए तो यह ज्यादा बड़ी प्रॉब्लम नहीं है लेकिन इस छोटी सी प्रॉब्लम का आपकी वेबसाइट या ब्लॉग के Bounce Rate को बढाने में भी हाथ होता है

जिस तरह से देरी से खुलने वाली वेबसाइट यूजर या Visitors को पसंद नहीं आती है ठीक इसी वजह से यूजर आपके ब्लॉग पर ज्यादा समय के लिए नहीं रहता है अब अगर आप ने अपनी वेबसाइट पर यूजर को Quality Content दिया है तब भी वेबसाइट स्लो होने के कारण यूजर उसको नहीं पड़ेगा और आपकी आपके ब्लॉग से वापस आ जायेगा जिससे आपके ब्लॉग के Bounce Rate के बढ़ने का खतरा रहता है



आपको बात दू कि अगर आपकी वेबसाइट 3 सेकंड के अंदर अंदर खुल रही है तो ठीक है नहीं तो आपको इस Loading Time वाले फैक्टर पर भी ध्यान देने की जरुरत है अगर आपकी वेबसाइट 1 second से कम मतलब टाइम लेती है तो यह Perfect है

अगर आपकी वेबसाइट 3 second से 7 second का टाइम लेती है तो यह एक Average Time है और अगर आपकी वेबसाइट इससे ज्यादा यानी 3 second से 7 से ज्यादा का टाइम लेती है तो यह एक Poor Time की Category में है और आपके और आपकी वेबसाइट के लिए यह बहुत बूरी बात है

अपनी Blog Post की Headings को Attractive रखे 

आपको अपने ब्लॉग पोस्ट की Headings को Attractive बनाना चाहिए इससे यूजर आपके ब्लॉग के contact को और भी अच्छे से पढ़ सकता है और अपनी ब्लॉग पोस्ट की Heading के हिसाब से ही अपने यूजर को सही content देना आपका सबसे पहला काम होता है आपके ब्लॉग की ब्लॉग पोस्ट की Heading आपके यूजर को अच्छे से समझ में जरुर आनी चाहिए

आपको इस बात का हमेशा ध्यान रखना है कि आपको अपने सभी यूजर का दिल जितना है जिसके बाद यूजर आपके ब्लॉग पर रिपीट आये ऐसा आप अपनने यूजर को 100% सही जानकारी देकर ही कर सकते है इसीलिए आपको अपनी ब्लॉग पोस्ट में एकदम सही और सटीक जानकारी यूजर को देनी है

अपने ब्लॉग के  यूजर को जानने की कोशिश करे 

आपको यह काम थोड़ा सा मुश्किल लग रहा होगा लेकिन अगर आपको एक अच्छा ब्लॉगर बानना है तो आपको यह जरुर समझना होगा यह काम ज्यादा मुश्किल नहीं है इसके लिए आप अपने Google Search Console की हेल्प भी ले सकते है इसमें आप देख सकते है कि किन चीज को लोग आपके ब्लॉग या वेबसाइट पर ज्यादा पढ़ रहे है आपको उस पर ज्यादा फोकस करना चहिये और आप Comment के जरिए से भी अपने यूजर से बात करे इससे आप अपने यूजर से जुड़ पाते है

जिनके कमेंट से आपको आगे किस किस तरह का content लिखना है यह जाने में भी मदत मिलती है और आप कमेंट के जरिये आपने बाकि यूजर को अपनी ब्लॉग पोस्ट को पढने के लिए Attract भी कर सकते है इससे बाकि यूजर का आपके ब्लॉग पर Trust बढ़ता है

अपने ब्लॉग को Mobile Friendly रखे

अगर आप एक ब्लॉगर है तो आपको इसके बारे में तो पता ही होगा लेकिन यह भी एक इम्पोर्टेन्ट फैक्टर है आप सभी लोग जानते होने की आजकल सबसे जयादा लोग मोबाइल से वेबसाइट को देखते है अगर आपका ब्लॉग Mobile friendly होगा तो यह आपके यूजर के लिए अच्छा होगा इसको आप google पर किसी टूल की मदत से भी चेक कर सकते है

Website Blog Ko Google Me Rank Kaise Kare
Website Blog Ko Google Me Rank Kaise Kare

Bounce Rate से सम्बंधित कुछ Question/Answer ( F&Q )

वेबसाइट का बाउंस रेट कितना होना चाहिए 

आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का बाउंस रेट 60% से नीचें रहना आपके ब्लॉग के लिए ठीक होता है और यह 60% से जितना जयादा कम होगा उतना ही आपकी वेबसाइट के लिए अच्छा रहता है

वेबसाइट का बाउंस रेट कैसे चेक कर सकते है 

यह बहुत आसान है इसके लिए आपको आपनी वेबसाइट को Google Analytic से जोड़ लेना है इसके बाद आप गूगल अनाल्य्टिक के सर्च में बाउंस रेट सर्च करके अपने ब्लॉग का बाउंस रेट पता कर सकते है

अपने आज क्या सीखा 

इस article में मेने Bounce Rate Ko Kaise Kam Kare in Hindi, Bounce Rate Kya Hai, What is bounce rate in SEO, What is Bounce rate in Hindi, Bounce Rate से related सभी जनकारी आपको दी है उमीद करता हू कि मेरे द्वारा दी गई जानकारी आपके लिए आवश्यक साबित होगी | अगर आप पोस्ट के लेखक से संपर्क करना चाहे तो instragram पर हमारे लेखक से contact कर सकते है

Article Credit By = itznitinsoni


Share Now

Add a Comment

Your email address will not be published.