ब्रेस्ट क्यों दबाते हैं? क्या गर्लफ्रेंड के स्तनों को दबाना चाहिए? ( गुप्त रहस्य समझें ) Best Guide 2023

ब्रेस्ट क्यों दबाते हैं? क्या गर्लफ्रेंड के स्तनों को दबाना चाहिए? ( गुप्त रहस्य समझें ) Best Guide 2024

Breast Kyo Dabate Hai: – ब्रेस्ट क्यों दबाते हैं? कई बार लोगो के मन में यह सवाल होता है कि पुरुष, संबंध बनाने के दौरान स्त्री के स्तनों को क्यों दबाते है? अक्सर जब कोई लड़की, किसी लड़के के साथ प्यार में होती है

तो उसके मन में ऐसे सवालों का आना स्वाभिक होता है कुछ लड़कियां, इस विषय को अच्छे से समझने के लिए गूगल में यह लिखकर सर्च करती है कि बॉयफ्रेंड अपनी गर्लफ्रेंड के स्तनों को क्यों दबातें है?

कभी कभी शादी के बाद कुछ पुरुषो के मन में यह सवाल होता है कि क्या पत्नी के ब्रैस्ट दबाने चाहिए? हाँ भाई, ऐसे लोग भी होतें है जो यह सोचते है कि अगर वह अपनी पत्नी के स्तनों को दबायेंगे तो वह बुरा मान सकती है लेकिन सच्चाई क्या है क्या बीवी के स्तनों को दबाना चाहिए?

ब्रेस्ट क्यों दबाते हैं? क्या गर्लफ्रेंड के स्तनों को दबाना चाहिए? ( गुप्त रहस्य समझें ) Best Guide 2023

हम सभी लोग अपने जीवन में कभी न कभी, किसी पार्टनर के साथ शारीरिक संबंध जरुर बनातें है परन्तु यह स्त्री के स्तनों को देखकर लडको को आकर्षण क्यों होता है यह सब हम इस लेख में समझेंगे चलिए अब हम सबसे पहले यह जान लेतें है कि संबंध बनाने में स्तनों की क्या भूमिका है?

संबंध बनाने में स्तनों की क्या भूमिका है?

Table of Contents

हम सब जानतें है कि स्तन, महिलो के शरीर में सबसे संवेदनशील अंग होता है, ऐसे में संबंध बनाने के दौरान, पुरुष के द्वारा किया गया, स्तनों पर स्पर्श पुरुष और स्त्री दोनों को उत्तेजित करता है संबंध बनाने के दौरान,

स्त्री और पुरुष दोनों को शारीरिक सुख की सन्तुष्टि देने के लिए स्तन सबसे अधिक महत्वपूर्ण होतें है संबंध बनाने के दौरान, एक स्त्री के स्तन, पुरुष को संबंध बनाने के लिए एक तरह से आमंत्रण देने का काम करतें हैं

साधारण भाषा में कहा जाए, तो एक स्त्री अपने स्तनों के मात्र दर्शन से पुरुष को फोरप्ले के दौरान, संबंध बनाने के लिए आमंत्रण देती है यह स्त्री और पुरुष दोनों के अंदर संबंध बनाने के लिए उत्त्सुकता को बढ़ा सकता है

हम सब जानतें है कि पुरुष के मन और स्त्री के स्तनों का बहुत गहरा सम्बन्ध होता है

पुरुषो को स्तनों से खेलना क्यों पसंद होता है?

संबंध बनाने के दौरान, स्त्री के स्तनों से खेलना लगभग हर पुरुष को सबसे अधिक पसंद होता है इस दौरान, पुरुष स्त्री के स्तनों को प्रेस करना, निपिल्स को मुह में लेना, अन्य अंगो पर स्तनों को रगड़ना, निपिल्स को दबाना, स्तनों पर किस करना, आदि काम होतें है

पुरुष यह सभी काम, अपनी और स्त्री पार्टनर की शारीरिक भावनाओ को सन्तुष्ट करने के लिए करतें है साधारण भाषा में कहा जाए, तो संबंध बनाने के दौरान, स्त्री और पुरुष दोनों के चरम सुख का आनंद लेने और सन्तुष्टि प्राप्ति के लिए, पुरुषो के द्वारा, स्त्री के स्तनों से खेलने की प्रक्रिया जरुरी होती है

लड़कियां अपने स्तनों को आकर्षित क्यों बनाना चाहती है?

हाँ यह बात बिल्कुल सच है कि स्त्री के स्तनों को देखकर, पुरुष आकर्षित होतें है एक स्त्री के शरीर पर जब किसी पुरुष की नजर ऊपर से नीचे की तरफ पड़ती है तो ऐसे में उसके चहरे के बाद, स्तनों के ऊपर पुरुष का ध्यान जाता है अगर ऐसी स्थिति में स्त्री के स्तनों उभरे हुए है

तो यह पुरुष को अच्छे लागतें है साधारण भाषा में कहा जाए तो अगर किसी स्त्री के स्तनों का साइज़ 34 या इससे अधिक है तो यह पुरुषो को आकर्षित करने के लिए सबसे उत्तम रहता है यही कारण होता है कि लड़कियां अपने स्तनों को आकर्षित बनाना पसंद करती है

हर लड़की की किशोरावस्था के दौरान, उसके शरीर का विकास होता है इस दौरान उसके शरीर के अंदर हारमों का बदलाव होता है जिसके कारण नेचुरल तरीके से लड़कियों के स्तनों का आकार बढ़ता है

पुरुष स्तन क्यों दबातें है? ( ब्रेस्ट क्यों दबाते हैं? )

पुरुषो के द्वारा, स्त्री के स्तनों को दबाने का कारण, कामेच्छा को बढ़ाना होता है मुख्य रूप से संबंध बनाने के दौरान, स्त्री के स्तन पुरुषो की कामेच्छा को शांत करने और स्त्री की संबंध बनाने के दौरान उत्तेजना को बढ़तें है रिसर्च के मुताबिक, जब कोई पुरुष, स्त्री के स्तनों को दबाता, सहलाता, छुता है

तो उसके शरीर में कामेच्छा उत्तपन हो जाती है जिसके बाद वह स्त्री के साथ संबंध बनाने के लिए पुरी तरह से तैयार हो जाता है कभी कभी लड़कियां, लडको को संबंध बनाने के लिए आकर्षित करने में स्तनों का उपयोग करती है

यहाँ स्तनों के मात्र दर्शन से, पुरुषो के प्राइवेट पार्ट को संकेत मिलता है और वह जाग जाता है स्त्री को पुरुष के द्वारा उसके स्तनों को दबाना अच्छा लगता है यह स्त्री के लिए आनंदपूर्ण और रोमांटिक समय होता है जब कोई पुरुष, स्त्री के स्तनों को दबाता है

तो स्त्री को संबंध बनाने के दौरान सन्तुष्टि और चरम सुख प्राप्त होता है यही कारण है कि पुरुष स्त्री के ब्रेस्ट को दबातें है

क्या पुरुषो को स्तनों में उभार अच्छा लगता है?

हाँ, स्त्री और पुरुष दोनों को स्तनों में उभार अच्छा लगता है रिसर्च के मुताबिक, पुरुषो के साथ साथ, स्त्री को भी अपने उभरे हुए स्तन, बिना उभरे हुए स्तन की तुलना में अधिक पसंद आतें है लड़कियां, बिना उभरे स्तन को कमजोर स्तन समझती है

हम सब जानतें है कि संबंध बनाने के दौरान, स्त्री के स्तनों से खेलना स्त्री और पुरुष दोनों को अच्छा लगता है स्त्री के स्तनों की संवेदनशीलता मनुष्य के आकर्षण से जुडी होती है

ऐसे में लड़कियों के उभरे हुए स्तन, पुरुषो को आकर्षित करने में महत्वपूर्ण होतें है यही कारण है कि बड़े स्तन वाली लड़कियां, लडको को हॉट लगती है

क्या छुने या दबाने से स्तन का आकर बढ़ता है?

कुछ लड़कियों के मन में यह विचार रहतें है कि अगर लड़का उनके स्तन को दबाएगा या छुयेगा तो उनके स्तनों का आकर बढ़ जाएगा ऐसे विचार रखने वाली महिलाये, अपने स्तनों को छुने या दबाने नहीं देती है लेकिन लड़कियों के दिमाग में यह एक गलत अवधारणा है

क्योकि जब लड़का किसी लड़की के स्तन को छुता या दबाता है तो ऐसे में उनका आकर नहीं बढ़ता है हाँ, यह बात सच है कि जब लड़कियां अधिक उत्तेजित रहती है तो इस दौरान लड़कियों के स्तनों के अंदर रक्त का संचार बढ़ जाता है इस कारण लड़कियों के ब्रैस्ट का आकर बढ़ जाता है

लेकिन किसी पुरुष के द्वारा, स्त्री के स्तनों को दबाने, छुने या चूसने से स्तनों के आकार में कोई बदलाव नहीं होता है लेकिन अगर ऐसा नहीं है तो लड़कियों के स्तनों का आकर कब बढ़ता है?

लड़कियों के ब्रैस्ट का साइज़ कब बढ़ता है?

जब लड़कियों को यह बात अच्छे से समझ में आ जाती है कि लडको के द्वारा, लड़कियों के स्तनों को दबाने, चूसने या छुने से, लड़कियों के स्तनों का आकार नहीं बढ़ता है तो यहाँ लड़कियों के मन में यह सवाल उठने लगता है कि लड़कियों के ब्रैस्ट का साइज़ कब बढ़ता है?

यहाँ लड़कियों के एक बात समझ लेनी चाहिए कि उनके ब्रैस्ट का साइज़ तब बढ़ता है जब उनके शरीर के अंदर हार्मोन का बदलाव होता है रिसर्च के मुताबिक, स्तनपान और वेट लिफ्टिंग करने वाली लड़कियों के स्तनों का आकार बढ़ जाता है

अचानक स्तनों का आकार कैसे बढ़ जाता है?

ऐसा नहीं होता है कि किसी लड़की के ब्रैस्ट का साइज़ अचानक बढ़ जाए और उस लडको को पता न चले हाँ, कभी कभी कुछ स्थिति में ऐसा होता है कि लड़कियों के स्तनों में सुजन आ जाती है

जिसके कारण लड़कियों को अपने स्तनों का आकार बढ़ा हुए दिखाई देता है लेकिन यह सुजन हमेशा के लिए नहीं रहती है इसीलिए कुछ समय बाद यह सुजन चली जाती है जिसके बाद आपके स्तनों का आकर नार्मल हो जाता है

बच्चे के लिए, स्त्री के स्तन क्यों महत्वपूर्ण होतें है?

हम सब जानतें है कि एक स्त्री का शरीर, प्रेगनेंसी के बाद बच्चे को जन्म देता है, स्त्री अपने गर्भ में लगभग नौ महीने तक बच्चे का निर्माण करती है इस दौरान बच्चे को भोजन स्त्री के गर्भनाल से प्राप्त होता है, स्त्री के गर्भ में बच्चा बिल्कुल अकेला रहता है, लेकिन जब बच्चे का जन्म हो जाता है

तो उसको सबसे पहले माँ के दूध को पीने को कहा जाता है स्त्री के स्तनों में नेचुरल रूप से बच्चा पैदा होने के बाद, दूध का निर्माण होना शुरू हो जाता है सभी लोग यह जानतें है कि भोजन में कितने सारे पोषक तत्व होतें है लेकिन जन्म के बाद, एक बच्चे को केवल माँ का दूध पीने के लिए कहा जाता है

क्योकि इसके अंदर बहुत सारे पोषक तत्व, विटामिन, प्रोटीन होतें है यह बच्चे के विकास के लिए सबसे महत्वपूर्ण होतें है साधारण भाषा में खा जाए तो, जन्म के बाद कोई बच्चा अपने माँ के दूध को समझदार होने तक पीता है इसीलिए जन्म के बाद हर बच्चे के लिए माँ के स्तनों से निकला दूध बहुत जरुरी होता है

क्या स्त्री को पुरुष का स्तनों को दबाना पसंद होता है?

हाँ, संबंध बनाने के दौरान, या किसी अन्य समय पर जब कोई पुरुष स्त्री के स्तन को दबाता है तो अपने स्तनों पर पुरुषो के स्पर्श को महिलाये एन्जॉय करती है लेकिन ऐसा करने में, स्त्री और पुरुष दोनों के बीच सच्चा प्यार और रिलेशन होना बहुत महत्वपूर्ण होता है

अधिकतर, मुख्य रूप से स्त्री और पुरुष, शादी के बाद यह काम करतें है संबंध बनाने के दौरान, स्त्री के स्तनों को प्रेस करना संबंध बनाने के लिए उत्तेजना को बढाता है कामसूत्र शास्त्र में, स्थानों के स्पर्श को अच्छे से समझाया गया है

उसमे कहा गया है कि एक स्त्री मात्र अपने वक्षों के सौष्ठव से, पुरुष को अधिक सन्तुष्ट कर सकती है जब पुरुष बड़ा ( जवान ) होता है तो ऐसे में उसको, स्त्री के स्तनों के प्रति अलग आकर्षण होता है यही कारण है कि स्त्री और पुरुषो दोनों को यह काम अच्छा लगता है

क्या पति पत्नी का दूध पी सकता है? ( पत्नी का दूध पीना चाहिए कि नहीं? )

हाँ, अगर पति का मन, पत्नी के स्तनों से निकले दूध को पीने के लिए कर रहा है तो वह ऐसा कर सकता है कई बाद, बच्चा पैदा होने के बाद पत्नी के स्तनों में दूध जम जाता है ऐसा होने का मुख्य कारण यह होता है कि स्त्री के स्तनों में, बच्चा पैदा होने के बाद दूध का निर्माण होने लगातार शुरू हो जाता है

यहाँ छोटे बच्चा इतना सारा दूध नहीं पी सकता है जिसके बाद पत्नी के स्तनों में दूध जम जाता है इस दौरान पत्नी के स्तनों में भारीपन और दर्द होता है लेकिन यहाँ पति, पत्नी के स्तनों से निकले दूध का सेवन कर सकता है

जिससे उसकी पत्नी के स्तनों में निर्माण होने वाले दूध की आपूर्ति पुरी हो सके और उसको दर्द न हो

मुझे अपनी ब्रैस्ट ( स्तनों का आकर बढ़ाना ) है क्या करूँ? क्या न करूँ?

जब कोई लड़की, वजन उठाती है तो ऐसे में उनके स्तनों का आकार बढ़ जाता है कुछ लड़कियां अपने स्तनों का साइज़ बढाने के लिए कुछ एक्सरसाइज करती है एक्सरसाइज करने से स्त्री के स्तनों का शेप बेहतर होती है लेकिन ऐसा करने से उनके स्तनों का साइज़ नहीं बढ़ता है

क्योकि स्तनों का साइज़ बढाने का नेचुरल तरीका, उनके शरीर में हार्मोन का बदलाव होता है किशोरावस्था के दौरान, स्त्री के शरीर में हार्मोन के बदलाव के कारण, उनके ब्रैस्ट का साइज़ बढ़ता है शादी के बाद, बच्चा पैदा होने पर बच्चे का स्तनपान करने से लड़कियों के स्तनों का साइज़ नेचुरल बढ़ता है

परन्तु अगर कोई महिला अपने ब्रैस्ट के शेप को सही करना चाहती है तो ऐसे में वह एक्सरसाइज का उपयोग कर सकती है लेकिन ब्रैस्ट के आकार को बढाने के लिए, लड़कियों को हमेशा सीधे बैठना चाहिए, योग करना चाहिए, सीधे खड़े होकर चलना चाहिए

लेकिन कुछ लड़कियां अपने स्तनों का आकार बढाने के लिए कुछ ऐसे तरीको का उपयोग करती है जो सही नहीं होतें है उनमे से कुछ मुख्य तरीको के बारे में हमने नीचे बताया है –

नोट – यह तरीके जानलेवा हो सकतें है इसीलिए इनका उपयोग करने से बचे

  • किसी प्रकार की क्रीम का उपयोग
  • किसी औषिधि का सेवन करना
  • ब्रैस्ट इंप्लांट करना

लड़कियों के ब्रैस्ट अथार्थ स्तनों में ढीलापन आने के कई सारे कारण होतें है जिनमे से कुछ मुख्य कारण के बारे में नीचे बताया गया है –

  • ब्रैस्ट का हैवी होना
  • प्रेगनेंसी के बाद बच्चे को स्तनपान कराना
  • स्त्री को ब्रैस्ट कैंसर होना
  • बढ़ती उम्र के कारण .
  • मनोपोज के कारण होना

क्या संबंध बनाने के दौरान, ब्रैस्ट ( स्त्री के स्तनों का दबाना ) जरुरी होता है?

नहीं, संबंध बनाने के दौरान, स्त्री के स्तनों को दबाना जरुरी नहीं होता है क्योकि संबंध बनाने में स्तनों का कोई रोल नहो होता है कुछ स्त्री और पुरुष अपने अंदर, कामेच्छा को बढाने के लिए ऐसा करतें है तो यह सच है कि स्त्री के स्तनों को दबाने से संबंध बनाने के दौरान, उत्तेजना बढ़ती है

लेकिन पुरुष, मुख्य रूप से कामेच्छा के दौरान अपनी शारीरिक भावनाओ के लिए ऐसा करता है स्त्री को पुरुष के द्वारा, स्तन दबाना पसंद होता है लेकिन जरुरी नही होता है स्त्री और पुरुष संबंध बनाने के लिए अपने प्राइवेट पार्ट का उपयोग करतें है

परन्तु अगर कोई महिला संबंध बनाने के दौरान, केवल इस वजह से अपने स्तनों को दबाने नहीं देती है क्योकि ऐसा करने से उसके स्तनों का आकार बढ़ जाएगा तो आप पुरी तरह से गलत है क्योकि पुरुषो के द्वारा स्तनों के साथ खेलने, छुने, दबाने या चूसने से स्त्री के स्तनों का आकार नहीं बढ़ता है

स्तनों को दबाने से दर्द होता है?

संबंध बनाने के दौरान, स्त्री के स्तनों को अधिक जोर से नहीं दबाया जाता है यह कामेच्छा को बढाने के लिए धीरे धीरे होता है लेकिन जो पुरुष किसी कारण से स्त्री के ब्रैस्ट को अधिक भार के साथ दबातें है तो ऐसी स्थिति में स्त्री के स्तनों में दर्द होना स्वाभिक होता है

लेकिन अगर आप ऐसे मर्दों में से एक है जो अपनी पत्नी के साथ ऐसा करते है तो यह करना पुरी तरह से गलत होता है कुछ मामलो में यह स्थिति लड़ाई झगड़ो को जन्म देती है अगर आप अपनी पत्नी के साथ ऐसा करने तो वह दुबारा आपको ऐसा करने की अनुमति नहीं देगी

Read More Articles: – 

FAQ

ब्रेस्ट इंप्लांट क्यों नहीं करना चाहिए?

क्योकि ब्रैस्ट इंप्लांट होने में थोड़ी सी चुक के कारण आपको ब्रैस्ट कैंसर हो सकता है ऐसी स्थिति में स्त्री की जान जा सकती है इसीलिए इस जानलेवा तरीके का उपयोग अपने ब्रैस्ट के आकार को बढाने के लिए न करें

आदमी को ब्रेस्ट क्यों पसंद है?

महिलाओ के शरीर में ब्रैस्ट एक संवेदनशील भाग होता है जो संबंध बनान के दौरान उत्तेजना बढाने, सन्तुष्टि पर करने में मुख्य भूमिका निभाता है इसलिए आदमी को वह लड़कियां सबसे अधिक पसंद आती है जिनके ब्रैस्ट का साइज़ 34 या इससे अधिक होता है

ब्रैस्ट का साइज़ कितना होना चाहिए?

अगर आप एक सुंदर और हॉट फिगर के साथ साथ, हॉट स्तन चाहती है तो आपके स्तनों का साइज़ 34 या इससे अधिक होना चाहिए यहाँ अधिक बड़े स्तन नहीं होने चाहिए और स्तनों की शेप आपके बॉडी के अनुसार अच्छी होनी चाहिए

ब्रेस्ट पर किस करने से क्या होता है लड़कियों को?

ब्रेस्ट पर किस करने से लड़कियों के शरीर में संबंध बनाने के लिए उत्तेजना बढ़ती है अगर को पुरुष, किस करने के दौरान स्त्री के ब्रैस्ट पर किस करता है तो इसका मतलब वह उसके साथ शारीरिक संबंध बनाना चाहता है

ब्रैस्ट की बढाने के टिप्स?

अगर कोई महिला अपने ब्रैस्ट के शेप को सही करना चाहती है तो ऐसे में वह एक्सरसाइज का उपयोग कर सकती है लेकिन ब्रैस्ट के आकार को बढाने के लिए, लड़कियों को हमेशा सीधे बैठना चाहिए, योग करना चाहिए, सीधे खड़े होकर चलना चाहिए

आपने क्या सीखा

इस आर्टिकल के अंदर उन सभी बातें के बारे में बताया गया है जो लड़कियां ब्रैस्ट से संबंधित विषय पर जानना पसंद करती है इस लेख में हमने मुख्य रूप से यह इनफार्मेशन दिया है कि लड़के लड़कियों के ब्रैस्ट को क्यों दबातें है?

मुझे उमीद है कि आप सभी को ब्रेस्ट क्यों दबाते हैं?? के बारे में सब कुछ समझ आ गया होगा फिर भी अगर आपका कुछ सवाल है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में मुझसे पूछ सकते है

Credit By =itznitinsoni

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top