Domain Authority DA PA Kya Hai ? 8+ DA / PA Tips Best Guide in Hindi

Spread the love

Domain Authority DA PA Kya Hai: – आज हम Domain Authority Kya Hai, Page Authority Kya Hai, डोमेन अथॉरिटी और पेज अथॉरिटी कैसे चेक करे?, Website Ka DA / PA Kaise Increase Kare, DA और PA में कौन ज्यादा महत्वपूर्ण है?,Blog Ka DA / PA Kitna Hona Chahiye के बारे में बात करेंगे –

आ गए सारे ब्लॉगर? DA / PA या Domain Authority / Page Authority इनके नाम को आज इंडिया का हर ब्लॉगर जानता है जब ब्लॉग्गिंग से पैसे कामने की बात आती है

तो हर ब्लॉगर अपने Blog को Search Engine Google में रैंक करना चाहता है जिसके लिए वह अपनी वेबसाइट या ब्लॉग के DA / PA को बढ़ाते है

आज इन्टरनेट पर उपस्थित हर सफल ब्लॉगर वेबसाइट के लिए Domain Authority ( DA ) और Page Authority ( PA ) के महत्व को जानता है जब कोई आपको आपकी वेबसाइट या ब्लॉग को सर्च इंजन में कैसे रैंक कराए के बारे में जानकारी देता है

Domain Authority DA PA Kya Hai ? 8+ DA / PA Tips Best Guide in Hindi

 

वह उसमे SEO, Backlinks के बारे में जरुर बताता है क्योकि इसका असर Website या Blog की रैंकिंग पर देखने को मिलता है आप सब जानते है कि आजकल इन्टरनेट पर रोजाना नयी नयी वेबसाइट बनती है

जिनके माध्यम से लोग अपनी जानकारी को आप लोगो तक पहुचाते है ऐसे में अगर उनकी वेबसाइट अच्छी पोजीशन पर रैंक नहीं करेगी तब उनको सर्च इंजन से अच्छा Organic Traffic नहीं मिल पायेगा इसीलिए रैंकिंग के हर फैक्टर पर सभी ब्लॉगर का ध्यान होता है

क्योकि Domain Authority ( DA ) और Page Authority ( PA ) एक रैंकिंग फैक्टर है इसीलिए आज हम आपको डोमेन अथॉरिटी और पेज अथॉरिटी की सम्पूर्ण जानकारी देने वाले है चलिए अब Domain Authority Kya Hai के बारे में जान लेते है

Note – ब्लॉग्गिंग में छोटी छोटी गलतिया आपको असफल बनती है इसीलिए हमारा प्रयास है कि आपकी पूरी मदत करे?

Domain Authority DA PA Kya Hai ? Complete Information

Domain Authority Kya Hota Hai ? | Domain Authority क्या होता है

Domain Authority” एक मेट्रिक्स स्कोर है जो किसी वेबसाइट या ब्लॉग की रैंकिंग क्षमता को बताती है जिससे उस वेबसाइट के रैंक करने के प्रोबेब्लिटी का पता लगाया जा सकते है डोमेन अथॉरिटी को शोर्ट में हम DA बोलते है यह मेट्रिक्स Moz के द्वारा बनाया गया है

जो सभी वेबसाइट को Logarithmic Scale के माध्यम से 1 से 100 तक के नंबर्स में ग्रेड देता है रैंकिंग बढ़ने से आपकी वेबसाइट का ट्रैफिक बढ़ता है ट्रैफिक के साथ साथ DA इनक्रीस होता है इससे सर्च इंजन की नजरो में आपकी वेबसाइट की Reputation और Value बनती है

अगर वेबसाइट की डोमेन अथॉरिटी DA अधिक होता है ऐसे में यह मान सकते है कि उस वेबसाइट की रैंकिंग क्षमता अधिक होगी लेकिन अगर ब्लॉग की डोमेन अथॉरिटी DA कम है ऐसे में ब्लॉग की रैंकिंग क्षमता को कम कहा जा सकता है

नई वेबसाइट की डोमेन अथॉरिटी कम होती है जैसे जैसे आपकी वेबसाइट पुरानी होगी वैसे वैसे आपकी वेबसाइट की डोमेन अथॉरिटी ज्यादा होती जाती है

Note – गूगल ऐसी मेट्रिक्स को कोई रैंकिंग फैक्टर नहीं मानता है लेकिन सभी सफल ब्लॉगर इसको एक रैंकिंग फैक्ट के रूप में देख लेते है क्योकि यह स्कोर Backlinks के ऊपर निर्भर करता है जोकि सर्च इंजन का एक रैंकिंग फैक्टर है

Page Authority Kya Hai ? | Page Authority क्या है

“Page Authority” यह एक मेट्रिक्स स्कोर होता है जो किसी वेबसाइट या ब्लॉग के वेब पेज की रैंकिंग क्षमता को बताता है इसको शोर्ट में PA भो कहा जाता है यह Moz के द्वारा बनाया गया है

जो आपकी वेबसाइट के वेब पेज की Value और Reputation को बताता है जिससे आपकी वेब पेज की सर्च इंजन में रैंकिंग बढती है

डोमेन अथॉरिटी और पेज अथॉरिटी कैसे चेक करे?

डोमेन अथॉरिटी और पेज अथॉरिटी को चेक करना बहुत आसान है इसके लिए आप ऑनलाइन DA / PA चेकर टूल का उपयोग कर सकते है

जिसके माध्यम से आपको आपकी वेबसाइट या वेब पेज की डोमेन अथॉरिटी और पेज अथॉरिटी के बारे में जानकारी मिल जाती है इसमें आप Moz और Websiteseochecker टूल का उपयोग कर सकते है

Domain Authority DA PA Kya Hai ? 8+ DA / PA Tips Best Guide in Hindi

Best DA, PA Checker Tool

  1. Websiteseochecker
  2. Moz

Websiteseochecker – यह एक अच्छा ऑनलाइन SEO चेकर टूल है इसके माध्यम से आप अपनी वेबसाइट या वेब पेज के DA और PA के स्कोर का पता लगा सकते है

Domain Authority DA PA Kya Hai ? 8+ DA / PA Tips Best Guide in Hindi

Websiteseochecker का उपयोग कैसे करे?

  • सबसे पहले आपको गूगल में Websiteseochecker लिख कर सर्च करना है
  • इसके बाद आपको Websiteseochecker के ऑफिसियल लिंक पर जाना है
  • अब आपको लेफ्ट साइड में बहुत सारे SEO टूल्स दिखाई देते है
  • जिसमे आपको Domain Authority Checker लिखा हुआ भी मिलता है आपको उस पर क्लिक करना है
  • अब आप यहाँ दिए गए URL बॉक्स में अपनी वेबसाइट या वेब पेज का यूआरएल पेस्ट करते है
  • जिसके बाद आप नीचे दिया हुआ Captcha Box चेक करते है
  • अब आपको ब्लू कलर के Check के बटन को दबा देना है

Note – Websiteseochecker Website Official Link

Moz – यह आपकी वेबसाइट का DA और PA बताने वाला एक अच्छा ऑनलाइन टूल है जिसके माध्यम से आप अपनी वेबसाइट और वेब पेज की डोमेन और पेज अथॉरिटी का पता लगा सकते है

Domain Authority DA PA Kya Hai ? 8+ DA / PA Tips Best Guide in Hindi

Moz का उपयोग कैसे करे?

  • सबसे पहले आपको गूगल में Moz लिख कर सर्च करना है
  • इसके बाद आपको इसकी ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना है
  • अब आपको यहाँ अपनी वेबसाइट का यूआरएल डालना है
  • इसके बाद आपको Analyze Domain के बटन को दबाना है
  • इसके बाद आपको आपकी वेबसाइट के DA और PA की रिपोर्ट मिल जाती है

Note – Moz Website Official Link

Domain Authority और Page Authority में क्या अंतर है?

डोमेन अथॉरिटी DA के माध्यम से हम पुरे डोमेन की रैंकिंग क्षमता को मापते है जबकि पेज अथॉरिटी PA के माध्यम से हम किसी वेब पेज की रैंकिंग क्षमता को मापते है

Website Ka DA / PA Kaise Increase Kare? Best Tips

Moz के द्वारा 40 फैक्टर्स है जिसके माध्यम से DA और PA की रैंकिंग तय की जाती है लेकिन वेबसाइट या ब्लॉग की Domain Authority और Page Authority बढ़ाने के लिए इन टिप्स को फॉलो करे –

  • अपनी वेबसाइट पर High Quality Backlinks को बनाए
  • अपने ब्लॉग पर High Authority DA और PA वाली वेबसाइट से Backlinks बनाए
  • अपनी वेबसाइट पर High Quality Content लिखे
  • अपनी ब्लॉग पर Internal Linking को बढाए
  • अपनी वेबसाइट को अपडेट रखे
  • अपने ब्लॉग की लोडिंग स्पीड को बढाए
  • अपनी ब्लॉग पोस्ट को SEO फ्रेंडली लिखे जिससे आपको अच्छी रैंकिंग मिले
  • एक वेबसाइट से ज्यादा Backlinks न बनाए

Note – धैर्य बनाए अगर आपकी वेबसाइट एक नई वेबसाइट है तब आपको उसकी पेज अथॉरिटी पर ध्यान देना चाहिए इससे आपकी डोमेन अथॉरिटी खुद इनक्रीस होती है

DA और PA में कौन ज्यादा महत्वपूर्ण है?

वैसे तो यह दोनों मेट्रिक्स बहुत महत्वपूर्ण होती है लेकिन आपकी वेबसाइट की डोमेन अथॉरिटी सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होती है क्योकि इसकी लिंक जूस आपकी वेबसाइट से हर वेब पेज पर पास होती है

Blog Ka DA / PA Kitna Hona Chahiye?

आजकल हर कोई इसके बारे में जानना चाहता है लेकिन आपको बता दू कि आपके ब्लॉग की डोमेन अथॉरिटी और पेज ऑथोरिटी जितनी ज्यादा होगी आपके लिए उसका महत्वपूर्ण होना उतना जरुरी होगा

Domain Authority DA PA Kya Hai ? 8+ DA / PA Tips Best Guide in Hindi

लेकिन अगर आप अपने Blog Niche से सम्बंधित Competitor की वेबसाइट के DA PA को चेक कर सकते है क्योकि आप उस विषय पर ही काम करना है ऐसे आपको एक आईडिया हो जाता है कि आपको आगे निकलने के लिए कितनी डोमेन अथॉरिटी की जरुरत होती है

FAQ

डोमेन अथॉरिटी नंबर क्या है?

“डोमेन अथॉरिटी नंबर” एक Logarithmic Scale  स्कोर है जो 1 से 100 तक के नंबर का होता है यह अलग अलग वेबसाइट को उनके अलग अलग फैक्टर्स को ध्यान में रख कर 1 से 100 नंबर तक रैंकिंग देता है जिससे वेबसाइट के रैंक होने की सम्भावना का पता लगाया जाता है

क्या 30 का डोमेन अथॉरिटी अच्छा है?

हाँ एक सर्वे की रिपोर्ट के अनुसार किसी वेबसाइट की 20 – 30 तक की डोमेन अथॉरिटी को एक अच्छी डोमेन अथॉरिटी बताया गया है साथ ही 30-50 तक की डोमेन अथॉरिटी इससे अच्छी और 50 – 60 उससे अच्छी इसके बाद 60 – 100 तक की डोमेन अथॉरिटी को सबसे अच्छी कहा जाता है

डोमेन अथॉरिटी क्या है और यह क्यों जरूरी है?

Domain Authority” एक मेट्रिक्स स्कोर है जो किसी वेबसाइट या ब्लॉग की रैंकिंग क्षमता को बताती है जिससे उस वेबसाइट के रैंक करने के प्रोबेब्लिटी का पता लगाया जा सकते है वेबसाइट की रैंकिंग के लिए यह जरुरी हो जाती है

Domain Authority कैसे बढ़ाये?

इसके लिए आपको हाई क्वालिटी Backlinks बनाने चाहिए इसके साथ आप On Page SEO, Off Page SEO, Guest Post, Website Loading Speed आदि पर ध्यान दे सकते है

Page Authority कैसे बढ़ाये?

इसके लिए आप अपनी वेबसाइट की इंटरनल लिंकिंग को सही कर सकते है इससे आपकी वेबसाइट की पेज अथॉरिटी बढती है

क्या Google अपने algorithm में DA का उपयोग करता है?

नहीं ऐसा नहीं है गूगल बस Backlink के फैक्टर को देखता है जिसके ऊपर आपका DA भी निर्भर करता है सर्च इंजन गूगल डोमेन अथॉरिटी या पेज अथॉरिटी के मेट्रिक्स को नही उपयोग करता है

क्या Backlinks बनाने से डोमेन अथॉरिटी बढती है?

हाँ अगर आप अपनी वेबसाइट पर हाई क्वालिटी backlinks बनाते है तब आपको आपकी व्ब्सिते के DA और PA में बढोतरी देखने को मिल जाती है

आपने क्या सिखा?

हर वेबसाइट का DA और PA अलग अलग होता है क्योकि हर वेबसाइट की परफॉरमेंस अलग अलग होती है यह DA और PA बढ़ता और घटता रहता है यह दोनों मेट्रिक्स ब्लॉग को सर्च इंजन के फर्स्ट पेज में रैंक करने में अपनी भूमिका निभाते है

आज मैंने आपको Domain Authority DA PA Kya Hai, Domain Authority Kya Hai, Page Authority Kya Hai, डोमेन अथॉरिटी और पेज अथॉरिटी कैसे चेक करे?, Website Ka DA / PA Kaise Increase Kare, DA और PA में कौन ज्यादा महत्वपूर्ण है?,Blog Ka DA / PA Kitna Hona Chahiye के बारे में सभी जानकारी दी है

मुझे उमीद है कि आप सभी को “DA or PA” के बारे में सब कुछ समझ आ गया होगा फिर भी अगर आपका कुछ सवाल है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में मुझसे पूछ सकते है साथ ही आर्टिकल को शेयर जरुर करे

Credit By = itznitinsoni


Spread the love

12 thoughts on “Domain Authority DA PA Kya Hai ? 8+ DA / PA Tips Best Guide in Hindi”

  1. अब मुझे DA PA के बारे मे पुरी जानकारी मिल गई है अब मै अपकी जानकारी के अनुसार काम करुँगा

    Reply

Leave a Comment