Google Search Console Kya Hai ? फायदे और उपयोग सम्पूर्ण जानकारी Best Guide 2023

Spread the love

Google Search Console Kya Hai – आज हम गूगल सर्च कंसोल क्या है, गूगल सर्च कंसोल के फायदे क्या है, गूगल सर्च कंसोल में Sitemap कैसे सबमिट करे, वेबसाइट का Sitemap कैसे बनाए, Google Search Console Ka Upyog Kaise Kare, गूगल सर्च कंसोल की टेक्निकल हेल्थ कैसे चेक करे आदि के बारे में बात करेंगे –

आ गए सारे नए ब्लॉगर? Google Search Console क्या है? सभी ब्लॉगर गूगल के इस टूल का नाम जानते है यह हर ब्लॉगर की ब्लॉग्गिंग जर्नी के लिए बहुत महत्वपूर्ण फ्री टूल है जिसका उपयोग आज हर छोटा – बड़ा ब्लॉगर करता है

लेकिन ज्यादातर नए ब्लॉगर को गूगल के इस टूल का महत्व शुरू में समझ नहीं आता है क्योकि Google Search Console  के इस टूल के माध्यम सभी ब्लॉगर अपनी वेबसाइट या ब्लॉग के ट्रैफिक की सम्पूर्ण जानकारी, ब्लॉग के Error, वेबसाइट की क्रॉलिंग डिटेल्स, वेबसाइट का बाउंस रेट, एग्जिट रेट आदि चीजे ऑप्टिमाइज़ कर सकते है

जिसको जानने के बाद आप अपनी वेबसाइट की रैंकिंग को बढ़ा सकते है गूगल का यह टूल एकदम फ्री टूल है गूगल या यह टूल एक वेबमास्टर की तरह काम करता है यह आपकी वेबसाइट की ब्लॉग पोस्ट को इंडेक्स करने में मदत करता है

यह टूल आपकी वेबसाइट के प्रदर्शन को दिखाता है इस टूल के डाटा को चेक करके आप अपने ब्लॉग्गिंग करियर को एक सफल ब्लॉग्गिंग करियर बना सकते है चलिए अब हम Google Search Console Kya Hai के बारे में जान लेते है

Google Search Console Kya Hai? | गूगल सर्च कंसोल क्या है?

Google Search Console” यह गूगल का एक फ्री वेबमास्टर टूल है जिसके माध्यम से आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग को गूगल सर्च इंजन में दिखाने और अपनी ब्लॉग पोस्ट को सर्च इंजन गूगल में रैंक करने के लिए सबमिट करते है

गूगल के इस टूल का उपयोग इंटरनेट पर उपस्थित हर वेबसाइट कर सकती है इस टूल की सहायता से आप अपनी वेबसाइट के ट्रैफिक की सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकते है यहाँ पर आपको यूजर की हर एक्टिविटी जैसे – किस कीवर्ड को गूगल में सर्च करके यूजर आपके ब्लॉग पर आ रहा है,

किस दिन कितने यूजर आपके ब्लॉग की किस पोस्ट पर आए, आपके ब्लॉग पर आने वाले यूजर की लोकेशन क्या है, आपके ब्लॉग पर आया हुआ यूजर किस डिवाइस के माध्यम से आया है, वेबसाइट का CTR, बाउंस रेट, एग्जिट रेट, मोबाइल फ्रेंडली टेस्ट, सबमिट Sitemap,

Google Search Console Kya Hai ? फायदे और उपयोग सम्पूर्ण जानकारी Best Guide 2022

कौन सी ब्लॉग पोस्ट इंडेक्स है या नहीं, Indexing Error, इसके डाटा को चेक करके आप अपने ब्लॉग के Technical SEO Improveकर सकते है इसके डाटा को चेक करके आप अपनी ब्लॉग पोस्ट का ON Page SEO Improveकर सकते है

अगर आपको अपने ब्लॉग की ब्लॉफ पोस्ट को गूगल से हटाना है तब आप वह काम इस Google Search Console की सहायता से कर सकते है वर्ष 2015 से पहले तक गूगल के इस टूल को Google Webmaster Tool के नाम से जानते थे

लेकिन वर्ष 2015 में मई के महीने में गूगल ने इसका नाम बदलकर Google Search Console घोषित कर दिया था गूगल के गूगल सर्च कंसोल का उपयोग करना हर ब्लॉगर की वेबसाइट या ब्लॉग के डाटा को ट्रैक करने और Error को Solve करने के लिए करना बहुत महत्वपूर्ण होता है

क्योकि जब आप Google Search Console में अपनी वेबसाइट के Sitemap को सबमिट कर देते है तब सर्च इंजन गूगल आपकी वेबसाइट के Sitemap के माध्यम से आपके ब्लॉग की हर नई ब्लॉग पोस्ट को तुरंत इंडेक्स कर लेता है

Google Search Console Ke Fayde Kya Hai? | गूगल सर्च कंसोल के फायदे क्या है?

गूगल सर्च कंसोल के फायदे निम्नलिखित है जैसे – 

  • यह आपकी वेबसाइट के सभी कीवर्ड्स को ट्रैक करके डाटा दिखाता है
  • गूगल सर्च कंसोल के माध्यम से आप अपनी वेबसाइट के स्ट्रक्चर डाटा की रिपोर्ट देख सकते है
  • इसमें आपको FAQ ट्रैफिक भी दिखाई देता है
  • यह आपके ब्लॉग के आर्गेनिक ट्रैफिक को ट्रैक करके आपको डिटेल्स देता है
  • इसके माध्यम से आप इंटरनल और एक्सटर्नल लिंक्स का पता लगा सकते है
  • यह आपकी वेबसाइट के बाउंस रेट और एग्जिट रेट के बारे में बताता है
  • गूगल सर्च कंसोल आपके ब्लॉग के सभी वेब पेज के इंडेक्स होने की जानकारी आपको मिल जाती है
  • यह आपकी वेबसाइट के सभी Error को दिखता है
  • इसके डाटा को चेक करके आप अपनी वेबसाइट की सर्च इंजन रैंकिंग को बढ़ा सकते है

Sitemap Kaise Banaye? | वेबसाइट का Sitemap कैसे बनाए?

वर्डप्रेस में वेबसाइट का Sitemap बनाना बहुत आसान है क्योकि अगर आप अपनी वर्डप्रेस वेबसाइट में Rank Math और Yoast SEO प्लगइन का उपयोग करते है तब आपकी वेबसाइट में आटोमेटिक Sitemap Generate हो जाता है

Google Search Console Kya Hai ? फायदे और उपयोग सम्पूर्ण जानकारी Best Guide 2022

जिसके बाद आप अपने SEO प्लगइन के Sitemap सेक्शन में जाकर अपने ब्लॉग के Sitemap को कॉपी कर लेते है जिसके बाद अपने उस Sitemap को अपने गूगल सर्च कंसोल में सबमिट कर सकते है

Google Search Console Me Sitemap Kaise Submit Kare? | गूगल सर्च कंसोल में Sitemap कैसे सबमिट करे?

गूगल सर्च कंसोल में अपनी वेबसाइट का Sitemap सबमिट करना बहुत आसान है इसके लिए आप नीचे बताए स्टेप्स को स्टेप बाई स्टेप फॉलो कर सकते है –

  • सबसे पहले आपको अपने गूगल सर्च कंसोल को ओपन करना है
  • इसके बाद आपको अपनी वेबसाइट को यहाँ सबमिट करके वेरीफाई कर लेना है
  • जिसके बाद आपको यहाँ लेफ्ट हैंड साइड मेनूबार में Sitemaps का ऑप्शन दिखाई देता है आपको उस पर जाना है
  • इसके बाद आपको यहाँ पर यूआरएल बॉक्स दिखाई देता है जो Add a new sitemap के नीचे होता है
  • अब आपको इसमें अपने Sitemap के यूआरएल को पेस्ट करके बराबर वाले Submit के बटन को दबा देना है
  • इसके बाद अगर यहाँ आपको status success दिखता है तब आपकी वेबसाइट का Sitemap यहाँ सबमिट हो चूका है

इतना काम करने के बाद आपके ब्लॉग का Sitemap यूआरएल आपके Google Search Console में सबमिट हो जाता है

Google Search Console Ka Upyog Kaise Kare?

गूगल सर्च कंसोल में आपको बहुत सारे ऑप्शन मिलते है जिनको नीचे मेंशन किया गया है आप नीचे दिए गए सभी पॉइंट्स को ध्यान से पढ़कर अपने Google Search Console का उपयोग या इस्तेमाल कर सकते है –

Overview (अवलोकन) – जब आप अपने Google Search Console के अकाउंट को ओपन करते है तब वहां लॉगइन करने के बाद आपको Overview पेज खुलता है जहाँ पर आप अपने ब्लॉग की परफॉरमेंस में Performance, Coverage, Experience, Indexing और Enhancements के सेक्शन मिलते है

URL Inspection (URL निरीक्षण) – आपके Google Search Console के अकाउंट में आपको सबसे ऊपर URL Inspection का सर्च बॉक्स मिलता है जिसके माध्यम से अपनी वेबसाइट के वेब पेज के सर्च इंजन गूगल में इंडेक्स होने का स्टेटस चेक कर सकते है

अगर आपके ब्लॉग की कोई ब्लॉग पोस्ट गूगल में इंडेक्स नहीं है तब ऐसे में आप अपनी उस ब्लॉग पोस्ट के यूआरएल को यहाँ पर पेस्ट करके सबमिट कर सकते है

जिसके बाद आपको एक पॉपअप दिखाई देता है जिसमे आपको Request Indexing पर क्लिक अपने वेब पेज की इंडेक्सिंग के लिए रिक्वेस्ट भेज सकते है अगर आपकी कोई ब्लॉग पोस्ट या वेब पेज यहाँ इंडेक्स नहीं दिखता है तब उसका कारण भी आपको यह दिखाता है

Google Search Console Kya Hai ? फायदे और उपयोग सम्पूर्ण जानकारी Best Guide 2022

Performance (प्रदर्शन) – यह Google Search Console का वह ऑप्शन है जिसके माध्यम से आप अपनी वेबसाइट के आर्गेनिक ट्रैफिक का डाटा Analyics करते है यहाँ आपको Google Discover और Google News के ऑप्शन भी दिखता है

जो आपको Google Discover और Google News का ट्रैफिक दिखाते है जब आप अपने Performance के ऑप्शन पर जाते है तब आपको यहाँ Total Click, Total Impression, Average CTR, Average Position आदि के ऑप्शन देखने को मिलते है 

  • Total Click – यह आपके ब्लॉग पर सर्च इंजन गूगल के द्वारा आने वाले क्लिक की संख्या को दिखाता है
  • Total Impression – यह आपकी वेबसाइट के सर्च इंजन गूगल में कितने बार दिखाए जाने को बताता है
  • Average CTR – CTR यह आपके ब्लॉग पर क्लिक करने वाले यूजर की औसत वैल्यू को बताता है
  • Average Position – यह आपके ब्लॉग के सर्च इंजन गूगल में रैंकिंग पोजीशन के औसत वैल्यू को बताता है यह से आप अपने कीवर्ड के किस पोजीशन पर होने का पता लगा सकते है

अब इन सभी को आप अलग अलग नीचे दिए गए ऑप्शन के फ़िल्टर को लगाकर Analyics कर सकते है यह आपको डिफ़ॉल्ट रूप से वेबसाइट के लास्ट 3 महीने का डाटा दिखता है इसके अलावा भी आप फ़िल्टर लगाकर अपनी वेबसाइट के कितने भी समय का डाटा चेक कर सकते है

  • Query – यह आपकी वेबसाइट पर पहुंचने वाले यूजर किन कीवर्ड के माध्यम से आपके ब्लॉग पर आए है उन कीवर्ड की लिस्ट को दिखाता है इसका मतलब कि इन सभी कीवर्ड्स पर आपका ब्लॉग रैंक है
  • Page – यहाँ से आप अपने ब्लॉग के हर वेब पेज के ट्रैफिक का पता लगा सकते है
  • Country – यह आपकी वेबसाइट का कितना ट्रैफिक किस देश से आ रहा है इसकी जानकारी आपको देता है
  • Device – यह आपके ब्लॉग पर कितने यूजर किस डिवाइस के माध्यम से आया है यह बताता है
  • Search Appearance – यहाँ से आप यह देख सकते है सर्च रिजल्ट के अलावा आपके ब्लॉग को कहाँ कहाँ से ट्रैफिक मिल रहा है
  • Date – यहाँ से आप देख सकते है कि किस Date को कितना ट्रैफिक आपके ब्लॉग पर आया है

Index (इंडेक्स) – यह ऑप्शन आपको Google Search Console में Performance के बाद दिखाई देता है जिसमे आपको Coverage, Sitemap और Removal के ऑप्शन देखने को मिलते है

Coverage – यहाँ आप अपनी वेबसाइट के Error को चेक कर सकते है क्योकि जब सर्च इंजन बोट्स या क्रॉलर आपकी वेबसाइट को क्रॉल करने के लिए आते है तब उनको आपके ब्लॉग को क्रॉल करने में जो दिक्कत होती है वह Error आपको यहाँ देखने को मिलते है

  • ErrorGoogle Search Console के इस सेक्शन में आपको वो सभी वेब पेज दिखाई देते है जिनको क्रॉल करने में गूगल को परेशानी आ रही है
  • Valid With Warning – यह पर आपको ब्लॉग के वो पेज मिलते है जिनको क्रॉल करने में छोटी दिक्कत आ रही है लेकिन फिर भी क्रॉलर उसको क्रॉल कर लेते है
  • Valid – यहाँ पर आपको आपके ब्लॉग के सभी इंडेक्स वेब पेज दिखाई देते है
  • Excluded – इस ऑप्शन में उन वेब पेज की लिस्ट होती है जिनको आपने अपने ब्लॉग की Robots.txt फाइल के माध्यम से ब्लॉक किया है

Sitemap – यह Google Search Console का सबसे महत्वपूर्ण ऑप्शन है इसमें आप अपने ब्लॉग के Sitemap को सबमिट करते है क्योकि वेबसाइट के Sitemap के माध्यम से आप अपनी वेबसाइट को सर्च इंजन गूगल में जल्दी इंडेक्स करा लेते है

Removal – यह ऑप्शन आपके ब्लॉग के किसी वेब पेज को जो इंडेक्स हो चूका है उसको रिमूव करने के काम आता है इसके लिए आप इस ऑप्शन में जाकर अपने उस यूआरएल को सबमिट करते है जिसको आपको रिमूव करना है

जिसके 24 से 48 घंटे के अन्दर आपके ब्लॉग का वह पेज सर्च इंजन गूगल से Temporary Base केवल 6 महीनो के लिए रिमूव हो जाता है

Experience (अनुभव) – इस ऑप्शन में आपको Page Experience, Mobile Usability, Core Web Vitals के ऑप्शन मिलते है

Page Experience – यह आपके ब्लॉग आने वाले विजिटर कितनी देर तक रुकते है के बारे में बताता है यहाँ पर आपको डेस्कटॉप और मोबाइल के आधार पर अपनी रिपोर्ट को देख सकते है

पेज एक्सपीरियंस को 5 फैक्टर्स प्रभावित करते है जैसे  –

  • इसमें वेबसाइट का LayOut और लोडिंग स्पीड सही होनी जरुरी है
  • ब्लॉग में SSL सर्टिफिकेट का होना अत्यंत जरुरी है
  • वेबसाइट मोबाइल फ्रैंडली होनी चाहिए
  • वेबसाइट में यूजर की सिक्योरिटी सही होनी चाहिए
  • ब्लॉग में जरुरत से जयादा Ads नहीं होने चाहिए

Core Web Vitals – यह आपकी वेबसाइट के हर वेब पेज को प्रभावित करता है क्योकि यह आपकी वेबसाइट की लोडिंग स्पीड और लेआउट के ऊपर निर्भर करता है क्योकि इसमें Large Contentful Paint (LCP), First Input Delay (FID), Cumulative Layout Shift (CLS) आदि आते है

इसमें आप मोबाइल और डेस्कटॉप के अनुसार रिपोर्ट को चेक कर सकते है

  • Large Contentful Paint (LCP) – वेब पेज  वाला सबसे लार्ज कंटेंट 4 सेकंड से कम होना चाहिए
  • First Input Delay (FID) –  यह वेब पेज में उपस्थित यूजर के किसी लिंक के द्वारा रेडिरेक्ट होने के समय के ऊपर निर्भर करता है अगर आपके ब्लॉग पर वेब पेज के लिए द्वारा यूजर 100 मिली सेकंड के अंदर रेडिरेक्ट हो जाता है तब आपके ब्लॉग का FID स्कोर Good है
  • Cumulative Layout Shift (CLS) – जब वेबसाइट के वेब पेज में Element इधर – उधार Shift होते है तब आपके ब्लॉग का CLS बढ़ जाता है इसलिए आपके ब्लॉग का CLS स्कोर 0.1 सेकंड के अन्दर होना Good होता है

Mobile Usability – यहाँ से आप अपनी वेबसाइट के मोबाइल फ्रेंडली एरर को चेक कर सकते है

Enhancements – इसके माध्यम से आप अपनी वेबसाइट के स्ट्रक्चर डाटा की रिपोर्ट देखते है आप अपने ब्लॉग में जितने भी स्कीमा मार्कअप का उपयोग करते है यहाँ पर आपको उन सभी की रिपोर्ट मिल जाती है

जब आप अपनी वेबसाइट में FAQ स्कीमा का उपयोग करते है तब आपके Google Search Console के FAQ का ऑप्शन Enable होता है ऐसे ही यहाँ आपको AMP, Sitelink Searchbox, Breadcrumb आदि ऑप्शन दिखाई देते है

आपके ब्लॉग में जब आप स्कीमा लगाते है अगर उसमे कोई दिक्कत है तब यहाँ आपको Error देखने को मिल जाते है

  • Error – यहाँ पर आपकी वेबसाइट के जिन वेब पेज में स्कीमा मार्कअप का Error है वो सब यहाँ पर आपको दिख जाते है
  • Valid With Warning – अगर किसी वेब पेज स्कीमा मार्कअप में कोई छोटी दिक्कत है तब वो यहाँ आपको दिखाई है लेकिन गूगल फिर भी उनको इंडेक्स कर लेता है
  • Valid – यहाँ पर आपको आपके ब्लॉग के वो सभी वेब पेज दिखाई देते है जिनमे स्कीमा सही प्रकार से लगा हुआ है

Manual Action – जब आपके ब्लॉग पर सर्च इंजन गूगल के द्वारा कोई Manually एक्शन लिया जाता है उसकी जानकारी आपको इस सेक्शन के माध्यम से प्राप्त होती है 

Security Action – जब आपके ब्लॉग पर सर्च इंजन गूगल की तरफ से कोई Security एक्शन लिया जाता है उसकी जानकारी आपको इस सेक्शन के माध्यम से प्राप्त होती है

Link (लिंक) – यहाँ पर आपको अपने ब्लॉग के सभी प्रकार के लिंक की जानकारी दिखाई जाती है जैसे – External Link, Internal Link, Backlink

Setting (सेटिंग) – यहाँ से आप अपने Google Search Console अकाउंट में किसी यूजर को Add कर सकते है यहाँ से आप अपने Google Search Console की सभी सेटिंग जैसे – पॉपर्टी ( वेबसाइट ) को रिमूव करना, क्रॉलिंग डिटेल्स आदि

वेबसाइट का ट्रैफिक Analysis करने के लिए गूगल सर्च कंसोल का उपयोग कैसे करते है?

अपने ब्लॉग या वेबसाइट के ट्रैफिक को Analysis करने के लिए आप Google Search Console के performance सेक्शन की रिपोर्ट को चेक करते है जहाँ पर आपको click, impression, CTR, Average Position के सेक्शन दिखाई देते है

  • Total Click – यह आपके ब्लॉग पर सर्च इंजन गूगल के द्वारा आने वाले क्लिक की संख्या को दिखाता है
  • Total Impression – यह आपकी वेबसाइट के सर्च इंजन गूगल में कितने बार दिखाए जाने को बताता है
  • Average CTR – CTR यह आपके ब्लॉग पर क्लिक करने वाले यूजर की औसत वैल्यू को बताता है
  • Average Position – यह आपके ब्लॉग के सर्च इंजन गूगल में रैंकिंग पोजीशन के औसत वैल्यू को बताता है यह से आप अपने कीवर्ड के किस पोजीशन पर होने का पता लगा सकते है

अब इन सभी को आप अलग अलग नीचे दिए गए ऑप्शन के फ़िल्टर को लगाकर Analyics कर सकते है यह आपको डिफ़ॉल्ट रूप से वेबसाइट के लास्ट 3 महीने का डाटा दिखता है इसके अलावा भी आप फ़िल्टर लगाकर अपनी वेबसाइट के कितने भी समय का डाटा चेक कर सकते है

  • Query – यह आपकी वेबसाइट पर पहुंचने वाले यूजर किन कीवर्ड के माध्यम से आपके ब्लॉग पर आए है उन कीवर्ड की लिस्ट को दिखाता है इसका मतलब कि इन सभी कीवर्ड्स पर आपका ब्लॉग रैंक है
  • Page – यहाँ से आप अपने ब्लॉग के हर वेब पेज के ट्रैफिक का पता लगा सकते है
  • Country – यह आपकी वेबसाइट का कितना ट्रैफिक किस देश से आ रहा है इसकी जानकारी आपको देता है
  • Device – यह आपके ब्लॉग पर कितने यूजर किस डिवाइस के माध्यम से आया है यह बताता है
  • Search Appearance – यहाँ से आप यह देख सकते है सर्च रिजल्ट के अलावा आपके ब्लॉग को कहाँ कहाँ से ट्रैफिक मिल रहा है
  • Date – यहाँ से आप देख सकते है कि किस Date को कितना ट्रैफिक आपके ब्लॉग पर आया है

गूगल सर्च कंसोल की टेक्निकल हेल्थ कैसे चेक करे?

वेबसाइट की टेक्निकल हेल्थ ब्लॉग की रैंकिंग के लिए बहुत महत्वपूर्ण है इसमें आप अपने Google Search Console में Index Coverage Report, Sitemap Report, Manual Actions Report, URL Inspection Tool, Core Web Vitals Report, Mobile Usability Report, Schema Error आदि चेक करके की टेक्निकल हेल्थ चेक कर सकते है 

FAQ

गूगल कंसोल कैसे काम करते हैं?

गूगल सर्च कंसोल आपकी वेबसाइट की क्रॉलिंग, इंडेक्सिंग को बेहतर बनाने के साथ साथ आपकी वेबसाइट की परफॉरमेंस रिपोर्ट आपको देता है जिसके माध्यम से आप अपनी वेबसाइट के ट्रैफिक को Analysis कर सकते है

यह गूगल का एक बेहतर वेबमास्टर टूल है जो आपकी वेबसाइट में आने वाले सभी Error जैसे – Indexing Error, Crawling Error, Structure Data Error, Canonical Tag Error, AMP Error आदि की जानकारी आपको देता है

गूगल सर्च कंसोल क्या है? समझाइए?

“गूगल सर्च कंसोल” यह गूगल का एक फ्री वेबमास्टर टूल है जिसके माध्यम से आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग को गूगल सर्च इंजन में दिखाने और अपनी ब्लॉग पोस्ट को सर्च इंजन गूगल में रैंक करने के लिए सबमिट करते है

गूगल सर्च कंसोल में कीवर्ड रैंकिंग कैसे चेक करें?

गूगल सर्च कंसोल में कीवर्ड रैंकिंग चेक करने के लिए सबसे पहले आपको अपने Google Search Console अकाउंट को ओपन करना है

इसके बाद आपको लेफ्ट साइड मेनूबार में Performance के ऑप्शन पर जाना है अब आपको यहाँ नीचे Query का सेक्शन दिखाई देता है जिसमे उन सभी कीवर्ड की लिस्ट होती है जिन पर आपकी वेबसाइट रैंक कर रही है

गूगल सर्च कंसोल कितने समय से आसपास है?

गूगल सर्च कंसोल को लगभग 15 साल पहले शुरू किया था जिसके बाद वर्ष 2015 से पहले इसका नाम Google Webmaster Tool था लेकिन मई 2015 के बाद गूगल ने इसका नाम बदलकर Google Search Console रख दिया था

गूगल का क्या काम करता है?

क्योकि गूगल दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन है इसलिए सर्च इंजन गूगल का काम यूजर की पूछी गई Query के कीवर्ड के अनुसार अपने यूजर को बेस्ट रिजल्ट दिखाना है

गूगल के क्रॉलर या बोट्स वेबसाइट की Robots.txt फाइल को ध्यान में रखकर उनके Sitemap के द्वारा वेबसाइट के वेब पेज को क्रॉल करते है जिसके बाद गूगल उन वेब पेज को इंडेक्स करके उनके कंटेंट के अनुसार रैंकिंग देता है

गूगल सर्च कंसोल का उपयोग क्यों करते है?

Google Search Console का उपयोग सभी वेबसाइट ओनर ( Bloggers & Company ) वेबसाइट या ब्लॉग के प्रदर्शन को Analysis करने के लिए करते है क्योकि यहाँ पर आपको Overview, Performance, URL Inspection, Indexing, Coverage, Sitemap, URL Removals, Links, Mobile Usability and AMP, Manual action आदि फीचर मिल जाते है

आपने क्या सीखा?

आज मैंने आपको Google Search Console Kya Hai, गूगल सर्च कंसोल के फायदे क्या है, गूगल सर्च कंसोल में Sitemap कैसे सबमिट करे, वेबसाइट का Sitemap कैसे बनाए, Google Search Console Ka Upyog Kaise Kare, गूगल सर्च कंसोल की टेक्निकल हेल्थ कैसे चेक करे आदि के बारे में सम्पूर्ण जानकारी दी है

मुझे उमीद है कि आप सभी को “Google Search Console” के बारे में सब कुछ समझ आ गया होगा फिर भी अगर आपका कुछ सवाल है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में मुझसे पूछ सकते है साथ ही आर्टिकल को शेयर जरुर करे

Credit By = itznitinsoni


Spread the love

2 thoughts on “Google Search Console Kya Hai ? फायदे और उपयोग सम्पूर्ण जानकारी Best Guide 2023”

Leave a Comment