मम्मी को काबू कैसे करे? ( अब मिलेगा माँ का प्यार अपनाए यह तरीके ) Best Guide 2023

मम्मी को काबू कैसे करे? ( अब मिलेगा माँ का प्यार अपनाए यह तरीके ) Best Guide 2024

Mummy Ko Kabu Kaise Kare: – मम्मी को काबू कैसे करे? आजकल बच्चे इन्टरनेट पर मम्मी ( Mummy ) को काबू में करने के बारे में खूब सर्च करते है यह एक तरह का चैलेंज है जिसको आज इस लेख में बताये गए तरीको का उपयोग करके पूरा किया जायेगा

गुस्सा हर मनुष्य के लिए हानिकारक होता है ऐसे में माँ को गुस्सा आने पर हानि अधिकतर माँ को होती है अगर आप ऐसे विचार अपनी माँ के लिए दिमाग में रखते है कि माता जी को काबू में कैसे किया जाये?

तो यहाँ आपको सबसे पहले एक बात समझ लेनी चाहिए कि आपको इस दुनिया में लाने वाली आपकी माँ ( Mummy ) है लेकिन गुस्सा किसी के लिए भी आफत बन जाता है मम्मी ( Mummy ) को गुस्सा आना स्वभाविक है लेकिन हर माँ ( Mummy ) को इसे कण्ट्रोल करना बहुत महत्वपूर्ण होता है

मम्मी को काबू कैसे करे? ( अब मिलेगा माँ का प्यार अपनाए यह तरीके ) Best Guide 2023

इसीलिए हमारी रिसर्च के अनुसार ऐसे हजारो लोग जो सर्च इंजन गूगल में यह सर्च करते है कि माँ के गुस्से को शांत कैसे करे?, मेरी माँ बहुत गुस्से में है क्या करू?, माँ को काबू कैसे किया जाए, माता जी को शांत कैसे करे?, मम्मी जी को काबू में कैसे करे?, मम्मी को काबू में कैसे करे?

Mummy Ko Kabu Mein Kaise Kare, Mummy Ko Control Kaise Kare, Mummy Ko Vash Me Kaise Kare, 

यही कारण है कि आज के इस लेख में आपको मम्मी ( Mummy ) को काबू में करने के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दूंगा चलिए अब हम यह जान लेते है कि मम्मी को काबू कैसे करे? सर्च करने पर क्या होता है?

मम्मी को काबू कैसे करे? सर्च करने पर क्या होता है?

Table of Contents

जब आप मम्मी को काबू में कैसे करे लिखकर इन्टरनेट पर सर्च करते है तो ऐसे में सर्च इंजन गूगल हमारे लेख को पढने के लिए अपने SERP में दिखाता है जिसको पढ़कर आप उपयोगी जानकारी प्राप्त करते है

माँ कौन होती है? ( Ma Kaun Hoti Hai? )

माँ वह है जिसके द्वारा मनुष्य जन्म लेता है क्योकि एक माँ आपने गर्व में बच्चे को धारण करती है जिसमे उसका विकास होता है जिसके पूरा होने के बाद वह अपने बच्चे को जन्म देती है यही कारण है कि किसी भी मनुष्य ( लड़का या लड़की ) के लिए माँ का स्थान सबसे बड़ा होता है

यही कारण है कि बच्चो में माँ ( Mummy ) की अधिक ममता होती है क्योकि वह उसकी रूह से जुड़े होते है

मदर्स डे क्या होता है? ( Mother’s Day Kya Hota Hai )

मदर्स डे एक अन्तर्राष्ट्रीय दिवस है जिसको माँ ( Mummy ) के दिन के नाम से जाना जाता है यही कारण है कि यह दिन माँ और बच्चो के लिए अहम अथार्थ विशेष होता है एक माँ का कर्ज बच्चा पुरे जीवन में कभी नहीं उतार सकता है

आजकल मदर्स डे भारत में बहुत लोकप्रियता से बनाया जाता है लेकीन भारत के इतिहास में इसका अधिक महत्त्व नहीं था

माँम रेंज किसे कहते है?

जब माँ को तीव्र क्रोध अथार्थ अधिक गुस्सा आता है तो ऐसी स्थिति को हम माँम रेंज कहते है ऐसे में माँ उदास और चिढ़ को अधिक महसस करती है जिसके बाद माँ का रोज के व्यवहार और काम के तरीको में अलग बदलाव उत्तपन होता है

ऐसे में माँ का बच्चो और पति के साथ तनाव बढ़ना या रिश्ते में दूरियां बनना तय होता है यही कारण है कि ऐसे में माँम रेंज आपकी मम्मी के जीवन को बुरी तरह से प्रभावित करता है क्योकि इससे आपके परिवार के बीच में माहोल ख़राब हो जाता है

माँम रेंज को शांत क्यों करना जरुरी होता है? ( कारण क्या है? )

गुस्सा एक ट्रिगर की भाति होता है जिसको शांत करना बहुत महत्वपूर्ण होता है इसका कारण कुछ भी हो सकता है जिसमे बच्चे के बाद पहले लाइफ को खोने का दुःख, व्यवाहिक सुख न मिलना, जीवन में उतार –चढ़ाव का होना, आदि हो सकते है

इसको बाहर निकालने के लिए आप खुद सोचे कि मैं इसको अपने जीवन से कैसे बाहर निकाल सकती हूँ लेकिन इसका निर्णय आपको लेना होगा क्योकि हर मनुष्य खुद के गुस्से को केवल खुद कण्ट्रोल कर सकता है

मम्मी को काबू कैसे करे? ( अब मिलेगा माँ का प्यार अपनाए यह तरीके ) Best Guide 2023

लेकिन एक बार जब आप इसमें सफल हो जाती है तो आप एक बेहतर जीवन को महसूस करती है इसके लिए आप एक्सरसाइज करना, इन्द्रियों को काबू में करना, पूरी नींद को लेना, मन को शांत रखना आदि काम कर सकते है

मम्मी को काबू कैसे करे? | Mummy Ko Kabu Mein Kaise Kare?

हाँ, अगर आपकी मम्मी ( Mummy ) को अधिक गुस्सा आता है तो ऐसे में आप अपनी मम्मी के लिए नीचे बताये गए तरीको का उपयोग करके उनके गुस्सा करने की आदत को काबू में कर सकते है जिसके बाद माँ ( Mummy ) हमेशा आपके काबू में रहती है –

  1. गलती को स्वीकार करे ( माँ को काबू करे )
  2. मोबाइल से दूर रहना अथार्थ गेम में न लगना ( कहना सुने )
  3. माँ को ब्लेम न करे ( गलत न समझे )
  4. समय से सोना, खाना ( सभी काम समय पर करे )
  5. दोस्तों के साथ अधिक समय नहीं बिताना ( पढाई पर अधिक ध्यान देना )
  6. माँ के साथ बहस न करे ( संघर्ष से बचना उचित रहता )
  7. माँ को साथ कम बात करे ( सफल बनकर दिखाए )
  8. मम्मी की बात को सुने और समझे
  9. मम्मी का घर के काम में हाथ बताये ( खाना बनाने में मदत )
  10. माँ के साथ देश व दुनिया की बात को करे ( गुस्सा करने से रोकना )
  11. माँ के साथ प्यार से रहे ( प्यार को बढ़ाये )

गलती को स्वीकार करे ( माँ को काबू करे )

अगर आप अपनी माता को काबू में करना या उसके गुस्से को शांत करना चाहते है तो ऐसे में आपको अपनी गलती को स्वीकार करना चाहिए क्योकि ऐसे में आप अपनी माँ ( Mummy ) के साथ होने वाले मन मुटाव से बच जाते है

हाँ, मैं जानता हूँ कि आजकल बच्चो के लिए यह काम मुश्किल होता है लेकिन माता ( Mummy ) को काबू में करने के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण है क्योकि ऐसे में आप लड़ाई तक बात को नहीं पहुचने देते है

मोबाइल से दूर रहना अथार्थ गेम में न लगना ( कहना सुने )

कभी कभी ऐसा होता है जब बच्चे मोबाइल का उपयोग बिना वजह के अधिक करते है तो यह काम उनकी मम्मी के गुस्से को बढ़ावा देता है अगर आप मोबाइल से कुछ जरुरी काम करेंगे तो माँ ( Mummy ) कुछ नहीं कहती है

लेकिन अगर आप केवल टाइमपास के लिए मोबाइल या कंप्यूटर का अधिक उपयोग करेंगे तो यह आपके माता के गुस्से को बढ़ाएगा इसीलिए आपको अधिक गेम नहीं खेलना चाहिए ऐसे में आप मोबाइल में गेम खेलने का एक निश्चित समय तय कर सकते है

इसके साथ आप अपनी माँ का कहना मानना शुरू कर सकते है क्योकि ऐसे में आप माता के गुस्से को कम करने वाले काम करते है जिससे माता के स्वाभाव में बदलाव होता है ऐसे में आप अपनी माँ ( Mummy ) को खुद गुस्सा अधिक करने का एहसास दिला सकते है

क्योकि ऐसे में आप एक दम से माता के स्वभाव में बदलाव करते है इसीलिए आपको माँ ( Mummy ) का कहना सुनना शुरू कर देना चाहिए

नोट – मोबाइल में सोशल मीडिया पर अधिक समय बिताना कम उम्र के बच्चो के लिए सही नहीं होता है ऐसे में आप मोबाइल का उपयोग कम करने में सोशल मीडिया का उपयोग बंद करे

माँ को ब्लेम न करे ( गलत न समझे )

अगर आप अपनी माँ ( Mummy ) को हमेशा ब्लेम करते है तो ऐसे में आपको एक बात समझनी होगी कि हाँ हर समय माता पिता सही नहीं होते है लेकिन वह हर समय गलत भी नहीं होते है क्योकि उनकी उम्र आपसे अधिक है और आपके साथ उनका रिश्ता बच्चे का है

मम्मी को काबू कैसे करे? ( अब मिलेगा माँ का प्यार अपनाए यह तरीके ) Best Guide 2023

ऐसे में वह आपका कभी बुरा नहीं सोच सकते है इसीलिए अगर आप अपने मन में माँ के लिए गलत होने के विचार को रखते है तो ऐसे में आपका माँ के प्रति व्यवहार में बदलाव देखने को मिलता है जिसके कारण बच्चे और माँ ( Mummy ) के रिश्ते में प्यार धीरे धीरे कम होने लगता है

समय से सोना, खाना ( सभी काम समय पर करे )

ऐसे बहुत सारे काम होते है जो आपकी माँ आपके लिए करती है ऐसे में अगर आप इन कामो में देरी करते है तो माता को गुस्सा होता है लेकिन अगर आप इन सभी कामो को समय पर करना शुरू कर देते है तो आप माँ ( Mummy ) को काबू में करने के लिए प्रयास करते है

इसीलिए आपको अब से मम्मी के कहने पर खाना, सोना, स्नान करना, स्कूल जाना, खेलना आदि काम करने चाहिए ऐसे में माँ आपसे खुश रहने लगती है जिसके कारण वह अपनी तनावपूर्ण जीवन में खुशी का अनुभव करती है जिसके कारण उसके स्वभाव में बदलाब होना तय है

नोट – मम्मी को बिना मतलब के परेशानी लेने की आदत होती है ऐसे में अगर बच्चे के कहना न मानना माँ ( Mummy ) को परेशान करता है हाँ, मैं जानता हूँ कि यह कोई परेशांन होने वाली बात नहीं है परन्तु क्या करे यह माँ है इनको चिंता होती है

दोस्तों के साथ अधिक समय नहीं बिताना ( पढाई पर अधिक ध्यान देना )

अगर आप अपने दोस्तों के साथ में अधिक समय बिताते है तो ऐसे में माँ को गुस्सा जरुर आता होगा क्योकि हमे पढाई पर ध्यान देना चाहिए यह बहुत महत्वपूर्ण है लेकिन बच्चे अपने होम वर्क या स्कूल के प्रोजेक्ट को साइड में रखकर जब दोस्तों के साथ अधिक समय तक रहते है

तो यह पढाई को इफ़ेक्ट करता है लेकिन अगर आप माँ के लिए पढाई पर थोडा अधिक ध्यान देंगे तो ऐसे में आप एक और वो वजह ख़तम कर देते है जिसके कारण माँ ( Mummy ) को गुस्सा आता है

इसीलिए अपने दोस्तों के साथ बिना मतलब के समय बिताकर समय बर्बाद न करे ऐसे में आपकी माता को कभी गुस्सा नहीं आएगा

माँ के साथ बहस न करे ( संघर्ष से बचना उचित रहता )

हमने देखा है कि अधिकतर जब बच्चे माँ के साथ बिना मतलब के या किसी अन्य वजह से बहस करने लगते है तो ऐसे में हमारा कभी कभी खुद के ऊपर कण्ट्रोल नहीं रहता है जिसके कारण हमारे द्वारा माँ ( Mummy ) को कुछ न कुछ कहने की सम्भावना अधिक होती है

इसीलिए आपको ऐसे स्थिति से दूरी हमेशा बनाना सीख लेना चाहिए क्योकि ऐसे में आप दोनों रिश्ते में नफरत को जगह नहीं देते है ऐसा करने से आप माँ ( Mummy ) के प्यार को दूर होने से रोकते है

नोट – मैं समझ सकता हूँ कि आजकल माँ ( Mummy ) को समझाना बहुत मुश्किल काम है इसीलिए मैं आपको माता के साथ बहस करने से बचने के लिए कह रहा हूँ

माँ को साथ कम बात करे ( सफल बनकर दिखाए )

अगर आप माँ के साथ कम बात करेंगे तो ऐसे में आपका प्यार मजबूत बना रहेगा हाँ, यह सच है लोग कहते है कि अपने माता पिता से आप हर बात कर सकते है क्योकि वह आपका हर समय साथ देते है लेकिन भारत में माँ ( Mummy ) के साथ सभी बातो को शेयर करना सही निर्णय नहीं है

क्योकि अधिकतर माता पिता समझने में असफल होते है जिसके कारण आप दोनों के विचार मिलने बंद हो जाते है फिर प्यार धीरे धीरे कम होने लग जाता है इसीलिए अगर आपके माता पिता की समाज आपसे कम है तो आपको उनके साथ कम बाते करनी चाहिए

यहाँ आप खुद की बेहतर सोच के अनुसार कार्य करे और जीवन में सफल बनते रहे याद रहे आपको माता पिता की सोच को बदलने के लिए अपनी सोच से सफल बनाना होगा जिसके बाद आपके माता पिता कभी आपको परेशान नहीं करते है उनको लगने लगता है कि अब आपके सभी फेसले सही होंगे

मम्मी की बात को सुने और समझे

अगर आपकी मम्मी आपको समझ नहीं पाती है तो ऐसे में आपको निराश होने की जगह मम्मी को समझना चाहिए क्योकि यह कही नहीं लिखा है कि केवल माता ( Mummy ) पिता ही बच्चे को समझ सकते है यह पॉइंट भारत के लोगो के लिए बहुत उपयोगी है

क्योकि इसमें आप माँ की बात को सुनते और समझते है ऐसे करने से आप मम्मी ( Mummy ) के गुस्से को हमेशा शांत रखते है और हमेशा अपने करियर पर फोकस करते है ऐसे में आप मम्मी के नाराज होने से बचते है

मम्मी का घर के काम में हाथ बताये ( खाना बनाने में मदत )

अगर आप माँ को काबू में रखना चाहते है तो ऐसे में आप हर समय माँ का काम में हाथ बताना चाहिए ऐसे में आप माँ की खाने बनाने में मदत कर सकते है इसके साथ माँ के साथ शौपिंग पर जा सकते है लेकिन आजकल बच्चो के पास इतना समय नहीं होता है कि वह माँ के साथ मिलकर घर के काम करे

ऐसे में माँ को लगता है केवल उसको हर काम करना होता है लेकिन ऐसा करके आप माँ ( Mummy ) को खुश रखते है

माँ के साथ देश व दुनिया की बात को करे ( गुस्सा करने से रोकना )

देखिये आपने सुना होगा कि ज्ञान बाटने से बढ़ता है इसीलिए अगर आपकी माँ हर समय घर के काम में और परिवार को सँभालने में व्यस्त रहती है तो ऐसे में आप माँ के मन को समझने और काम से मन को हटाने के लिए दुनिया की बाते कर सकते है

ऐसे में आप माँ को दुनिया की खूबसूरती के वीडियोस को दिखा सकते है अथार्थ माहोल के बदलने के लिए बात करने से माँ का गुस्से की तरफ ध्यान नहीं जाता है ऐसे में आप माँ के इंटरेस्ट को देश दुनिया के बारे में जानने में लगा देते है

जिसके कारण गुस्सा वाला स्वभाव माँ का कम होता है और आप माँ ( Mummy ) को काबू में रखते है

माँ के साथ प्यार से रहे ( प्यार को बढ़ाये )

समय समय पर माँ के प्यार को बढ़ाना बहुत जरुरी होता है ऐसे में आपको हमेशा माँ के साथ प्यार से रहकर उसके साथ प्यार को साझा करना चाहिए क्योकि दुनिया में ऐसे कोई माँ नहीं है जो बच्चे के प्यार देने पर गुस्सा हो या आपको प्यार के बदले प्यार न दे

आपको यह बात समझनी होगी कि माँ के प्यार की जरुरत पुरे जीवन भर पड़ती है ऐसे में जिनको माँ का प्यार नहीं मिलता है उनका जीवन बहुत मुश्किल में होता है जिस तरह आपको माँ के प्यार की जरूरत है उसी तरह माँ ( Mummy ) को भी बच्चो के प्यार की जरुरत जीवन भर होती है

मम्मी को काबू कैसे करे? ( अब मिलेगा माँ का प्यार अपनाए यह तरीके ) Best Guide 2023

लेकिन माँ और बच्चो की सोच और समझ न मिलने के कारण इनके खुबसूरत और भरोसेमंद रिश्ते में दूरियाँ आती है

माँ मुझे प्यार नहीं करती है? क्या कारण है?

बच्चो के जीवन में ऐसा महसूस होता है कि मेरे माँ मुझे प्यार नहीं करती है ऐसे में बच्चे को बहुत दुःख होता है क्योकि जब वह अपनी माँ के द्वारा खुद के लिए प्यार को महसूस नहीं करता है तो वह टूट जाता है

माँ और बच्चो के बीच दूरियों का कारण विचार का न मिलना, लड़ाई होना, नोक झोक होना आदि ऐसे समस्या को धीरे धीरे उत्तपन करते है कि माँ ( Mummy ) हमसे प्यार करना कम कर देती है

माँ के मुझे प्यार न करने के क्या कारण हो सकते है?

अगर आपकी माँ आपको प्यार नहीं करती है तो ऐसे में इसका मुख्य माँ के साथ बहस होना होता है जिसके बाद माँ के साथ किसी बात पर बच्चे का मन मुटाव हो जाता है

माता पिता और बच्चो में प्यार क्यों कम होता है?

हाँ, अधिकतर माता पिता बच्चो को समझने और बच्चे अपने माता पिता को नहीं समझ पाते है हाँ, भाई इसमें दोनों की गलती होती है लेकिन अधिकतर गलती माता पिता की होती है क्योकि उनका बच्चा जिस उम्र में है वह उसको जी चुके है जिसके कारण उनको उसकी उम्र का अनुभव होता है

लेकिन भारत में माता पिता इस बात को भुलकर बच्चो के लिए केवल माता पिता की तरह सोचते जिसके कारण यह बच्चो को समझने में बहुत बड़ी गलती करते है लेकिन बच्चे भी माता पिता को नहीं समझते है लेकिन इसका एहसास उनको माता पिता बनने के बाद चलता है

नोट – यहाँ बच्चो को चलाना या उनके रहन सहन की निर्भरता माता पिता के ऊपर निर्भर करती है क्योकि बच्चे उनकी सबसे बड़ी जिम्मेदारी होते है ऐसे में बच्चे के अंदर सही सोच और बेहतर गुण देना माता पिता के माहोल पर निभर करता है

जो लोग इसको समझ लेते है वह हमेशा बच्चो के साथ तालमेल को बानाने में सफल पेरेंट्स होते है

Read More Articles: – 

FAQ

माँ को गुस्सा क्यों आता है?

माँ को गुस्सा आने के कई कारण हो सकते है जिसमे व्यवाहिक सुख न मिलना, बच्चे का पढाई पर ध्यान नहीं देना, पति से प्यार न मिलना, परिवार मर शांति का माहोल न होना, सही नींद न लेना, आदि शामिल है

माँ को काबू में कैसे करे?

माँ को काबू करना बहुत मुश्किल काम है लेकिन आप हमारे इस लेख में बताये तरीको का उपयोग करके माता के गुस्से को कम करके उसको काबू में कर सकते है लेकिन ऐसे में आपको खुद को बदलना होगा

मैं हर समय अपने माता-पिता पर इतना गुस्सा क्यों रहता हूं?

हाँ, कभी कभी ऐसे कई कारण होते है जिनकी वजह से बच्चे माता पिता पर गुस्सा होते है इसमें बच्चो को न समझना, उनके पसंदीदा करियर में साथ न देना, बच्चो पर दबाब बनाना, बच्चो को उचित प्यार न मिलना, बच्चो का माता पिता के लिए गलत विचार होना, बच्चा का समर्थन न करना आदि शामिल है

माता पिता को दुख देने से क्या होता है?

अगर आप माता पिता को दुःख देते है तो ऐसे में आचार्य रजनीश महाराज ने कहा कि ऐसे बच्चे कभी सुख में नही रहते है परन्तु एक सच्चाई यह भी है कि कभी कभी बच्चे के करियर में उसको माता पिता नहीं समझते है जिसके कारण वह बच्चे के भविष्य को लेकर बिना मतलब के दुःख होते है

क्या माता पिता हमेशा सही होते हैं?

नहीं, ऐसा सही नहीं है कि माता पिता हर समय सही हो क्योकि कभी कभी छोटा बच्चा भी सही होता है यह सभी समझ के ऊपर निर्भर करता है क्योकि हर किसी के सोचने समझने का तरीका अलग होता है गलती इंसान से होती है क्योकि माता पिता भी इंसान है ऐसे में उनसे गलती होना स्वभाविक है

माता पिता से बड़ा कौन है?

माता पिता में सबसे बड़ा स्थान माता का होता है क्योकि किसी भी मनुष्य के जीवन में सबसे बड़ा गुरु ( शिक्षक ) होता है जिससे बड़ा स्थान पिता का होता है लेकिन इससे बड़ा स्थान माँ का होता है यह शास्त्र कहते है

आपने क्या सीखा

आज के इस लेख में मैंने आपको उन सभी उपयोगी तरीको के बारे में जानकारी दी है जिसका उपयोग करके आप माँ के गुस्से को शांत करके उसको काबू में कर सकते है इन सभी तरीको को हमारी लेखिका ने बताया है जिसमे हमारे लेखक ने अहम रोल निभाया है

नोट – माँ के इस लेख को लिखने का हमारा केवल यह उद्देश्य है कि माँ और बच्चो के विचारो में एक दुसरे के लिए सही बदलाव को लाया जाए जिसके कारण माँ और बच्चे के रिश्ते को मजबूत किया जाए 

मुझे उमीद है कि आप सभी को Mummy Ko Kabu Kaise Kare के बारे में सब कुछ समझ आ गया होगा फिर भी अगर आपका कुछ सवाल है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में मुझसे पूछ सकते है

Credit By =itznitinsoni

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top