SSL Certificate Kya Hai ? Best Complete Guide in Hindi 2022

Spread the love

SSL Certificate Kya Hai: – आज हम SSL सर्टिफिकेट क्या है, SSL सर्टिफिकेट कैसे ख़रीदे?, SSL सर्टिफिकेट की फुल फॉर्म क्या होती है?, SSL सर्टिफिकेट कैसे काम करता है, SSL सर्टिफिकेट कितने प्रकार के होते है, SSL सर्टिफिकेट के लाभ क्या है, TLS क्या है, Https प्रोटोकॉल क्या है, Http क्या है आदि के बारे में बात करेंगे –

आ गए सारे नए ब्लॉगर? SSL Certificate क्या जरुरी है? क्यों? जी हाँ, वेबसाइट में SSL सर्टिफिकेट का होना बहुत जरुरी होता है आप जानते ही होंगे आजकल सभी लोग ऑनलाइन होते जा रहे है आज ऑनलाइन मार्केटिंग बहुत ज्यादा बढ़ गया है

ऐसे में ऑनलाइन Shopping, Bill Payment, Ticket Booking आदि काम करने के लिए हमें अपनी डिटेल्स जैसे – आपका नाम, बैंक Details, Mobile Number, Email आदि देने की जरुरत पड़ती है

SSL Certificate Kya Hai ? Best Complete Guide in Hindi 2022

ऐसे में आपकी इन सभी डिटेल्स की सिक्यूरिटी बहुत जरुरी होती है हलाकि वेबसाइट के ओनर सभी डाटा को सिक्योर ही रखते है लेकिन फिर भी हैकर का खतरा बना रहता है इसीलिए SSL सर्टिफिकेट बनाया गया है

इसीलिए हम SSL Certificate Kya Hai में SSL Certificate के बारे में सभी चीजो पर बात करेंगे

SSL Certificate Kya Hai ? |  What is SSL Certificate in Hindi

SSL Certificate” आपकी वेबसाइट की इनफार्मेशन को किसी भी Third Party से सुरक्षित रखता है जोकि एक Encryption Protocol है यह प्रोटोकॉल किसी भी वेबसाइट को दी जाने वाली यूजर की इनफार्मेशन के लेन-देन को सिक्योर करता है यह प्रोटोकॉल वेबसाइट और ब्राउज़र की सिक्यूरिटी को बनाये रखता है

SSL सर्टिफिकेट वर्ष 1990 में आया था आजकल सभी वेबसाइट SSL Certificate का इस्तेमाल करती है सभी E-Commerce वेबसाइट के लिए इसका इस्तेमाल बहुत जरुरी हो जाता है

SSL सर्टिफिकेट की फुल फॉर्म क्या होती है?

SSL सर्टिफिकेट की फुल फॉर्म “Secure Socket Layer” होती है

SSL Certificate कैसे कार्य करता है?

SSL सर्टिफिकेट में दो Keys होती है जिसमे एक Public Key और एक Private Key होती है Public Key Sender और Receiver दोनों को पता होता है और Private Key केवल Receiver को पता होती है

SSL सर्टिफिकेट का उपयोग सिक्योर इनफार्मेशन को सिक्योर तरीके से ट्रान्सफर करने में किया जाता है इन इनफार्मेशन में आपकी क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, ऑनलाइन लेन-देन आदि जानकारी हो सकती है

SSL Certificate Kya Hai ? Best Complete Guide in Hindi 2022

चलिए Step by Step समझते है

  • सबसे पहले SSL Authentication देने वाले सर्वर के पास एक Private Key का अधिकार होता है
  • जिसको यह Public Key से Match करता है अब ब्राउज़र को SSL सर्टिफिकेट को कंटेंट करने के लिए Request भेजनी होती है
  • इसके बाद ब्राउज़र वेबसाइट को Identify करने के लिए रिक्वेस्ट भेजता है इसके बाद वेबसाइट ब्राउज़र को SSL सर्टिफिकेट की एक कॉपी भेज देती है
  • ब्राउज़र के द्वारा भेजे गए SSL को चेक किया जाता है यह सही होने पर ब्राउज़र वेबसाइट को मेसेज कर देता है
  • लेकिन यह सारे डाक्यूमेंट्स CA के द्वारा Sign किये जाते है जिसको बाद में बदला नहीं जा सकता
  • जब ब्राउज़र वेबसाइट को मेसेज भेज देता है तब सिक्योर लिंक एक्टिवेट हो जाता है
  • जिसके बाद ब्राउज़र में कुछ भी सर्च करने पर सारा डाटा एकदम सुरक्षित ट्रान्सफर होता रहता है

SSL Certificate कितने प्रकार के होते है?

SSL Certificate पाच प्रकार के होते है जैसे –

  • Single Domain SSL Certificate
  • Multi Domain SSL Certificate
  • Wildcart SSL Certificate
  • Organigation SSL Certificate
  • Extended SSL Certificate

सिक्युरिटी सिम्बल कितने प्रकार के होते है?

सिक्युरिटी सिम्बल तीन प्रकार के होते है जैसे –

  • Secure
  • Info or Not Secure
  • Not Secure or Dangerous

Secure:– यह एकदम सेफ सिंबल होता है जोकि यह बताता है कि वेबसाइट के जरिये आपके द्वारा दी जाने वाली या ली जाने वाली सभी जानकारी एकदम प्राइवेट या सिक्योर है

Info or Not Secure:- इसका मतलब है कि वेबसाइट SSL सर्टिफिकेट का उपयोग नहीं कर रही है और इससे आपके द्वारा शेयर की जाने वाली सभी महतवपूर्ण जानकारी को देखा या बदला जा सकता है

Not Secure or Dangerous:- इन वेबसाइट में आपको अपनी किसी भी प्रकार की डिटेल्स देने से बचना चाहिए

SSL सर्टिफिकेट के लाभ क्या क्या होते है? | Benefits of SSL Certificate in Hindi?

SSL सर्टिफिकेट के लाभ निमंलिखी है जैसे –

  • SSL सर्टिफिकेट से आपकी वेबसाइट या ब्लॉग की सिक्यूरिटी बढ़ जाती है
  • SSL सर्टिफिकेट से आपकी वेबसाइट या ब्लॉग को Encrypted Connection मिलता है
  • SSL सर्टिफिकेट से आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का SEO सही होता है
  • SSL सर्टिफिकेट से आपकी वेबसाइट या ब्लॉग की रैंकिंग बढती है
  • SSL सर्टिफिकेट से आपकी वेबसाइट या ब्लॉग पर डाटा का लेन – देन सुरक्षित हो जाता है

HTTP प्रोटोकॉल क्या है?

“Http” एक प्रोटोकॉल है जिसमें किसी भी डाटा का लेन – देन केवल टेक्स्ट के रूप में किया जाता है यह प्रोटोकॉल सर्वर को ब्राउज़र से जोड़ता है HTTP की फुल फॉर्म “Hyper Text Transfer Protocol” होती है

HTTPS प्रोटोकॉल क्या होता है?

“Https” एक प्रोटोकॉल है जोकि Http का ही एक सिक्योर Version होता है इसका प्रयोग संवेदनशील डेटा को सिक्योर तरीके से ट्रान्सफर करने के लिए किया जाता है

यह वेबसाइट और ब्राउज़र के बीच में डाटा को सुरक्षित ट्रान्सफर करने के लिए ही HTTPS को एन्क्रिप्ट किया गया Https की फुल फॉर्म “Hyper Text Transfer Protocol Secure” होता है संवेदनशील डेटा के अन्दर यूजर की बैंक खाते की डिटेल्स, ईमेल सेवा, लॉग इन आदि आते है

HTTP और HTTPS मे क्या अंतर  है?

Http प्रोटोकॉल सर्वर को ब्राउज़र से जोड़ता है जिसमें किसी भी डाटा का लेन – देन केवल टेक्स्ट के रूप में किया जाता है लेकिन Https, Http का ही एक सिक्योर Version होता है

SSL सर्टिफिकेट एक्टिव है यह कैसे पता करे?

SSL सर्टिफिकेट एक्टिव है यह पता करने के लिए आपको वेबसाइट से यूआरएल से पहले Http या Https लिखा हुआ दिखता है Https वेबसाइट यूजर के डाटा को एकदम सुरक्षित रखती है और इसको सुरक्षित रखने वाले प्रोटोकोल का नाम SSL Certificate होता है

TLS Kya Hai ?

“TLS” को वर्ष 1999 में SSL अतार्थ Secure Sockets Layer के उत्तराधिकारी के रूप में लाया गया यह भी SSL की तरह इंटरनेट प्रोटोकॉल,  Brower में Authentication और Encryption है और इसका पूरा नाम Transport Layer Security होता है

FAQ

SSL का क्या अर्थ है?

SSL Certificate” आपकी वेबसाइट की इनफार्मेशन को किसी भी Third Party से सुरक्षित रखता है जोकि एक Encryption Protocol है यह प्रोटोकॉल किसी भी वेबसाइट को दी जाने वाली यूजर की इनफार्मेशन के लेन-देन को सिक्योर करता है यह प्रोटोकॉल वेबसाइट और ब्राउज़र की सिक्यूरिटी को बनाये रखता है

एसएसएल सर्टिफिकेट फ्री में कैसे मिलता है?

SSL.com पर आपको 90 दिनों के लिए एसएसएल सर्टिफिकेट को फ्री में ले सकते है इसके अलावा भी आप Cloudflare से भी लाइफटाइम फ्री एसएसएल सर्टिफिकेट को ले सकते है

एसएसएल सर्टिफिकेट कैसे काम करता है?

SSL सर्टिफिकेट में दो Keys होती है जिसमे एक Public Key और एक Private Key होती है Public Key Sender और Receiver दोनों को पता होता है और Private Key केवल Receiver को पता होती है

SSL सर्टिफिकेट का उपयोग सिक्योर इनफार्मेशन को सिक्योर तरीके से ट्रान्सफर करने में किया जाता है इन इनफार्मेशन में आपकी क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, ऑनलाइन लेन-देन आदि जानकारी हो सकती है

SSL का पूरा नाम क्या है?

SSL सर्टिफिकेट का पूरा नाम “Secure Socket Layer” होता है

एसएसएल सर्टिफिकेट कितने का होता है?

एसएसएल प्रमाणपत्र आपको 60 डॉलर/वर्ष में मिल जाता है इसके साथ ही यह वेबसाइट की आवश्यकता के अनुसार यह 5 डॉलर/वर्ष से लेकर 1000 डॉलर/वर्ष भी हो सकता है

SSL का प्रयोग क्यों किया जाता है?

SSL सर्टिफिकेट का उपयोग सिक्योर इनफार्मेशन को सिक्योर तरीके से ट्रान्सफर करने में किया जाता है इन इनफार्मेशन में आपकी क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, ऑनलाइन लेन-देन आदि जानकारी हो सकती है

HTTP क्या है?

Http प्रोटोकॉल सर्वर को ब्राउज़र से जोड़ता है जिसमें किसी भी डाटा का लेन – देन केवल टेक्स्ट के रूप में किया जाता है लेकिन Https, Http का ही एक सिक्योर Version होता है

HTTPS क्या है?

“Https” एक प्रोटोकॉल है जोकि Http का ही एक सिक्योर Version होता है इसका प्रयोग संवेदनशील डेटा को सिक्योर तरीके से ट्रान्सफर करने के लिए किया जाता है

आपने क्या सिखा?

आज मैंने आपको SSL Certificate Kya Hai , SSL सर्टिफिकेट क्या है, SSL सर्टिफिकेट कैसे ख़रीदे?, SSL सर्टिफिकेट की फुल फॉर्म क्या होती है?, SSL सर्टिफिकेट कैसे काम करता है, SSL सर्टिफिकेट कितने प्रकार के होते है, SSL सर्टिफिकेट के लाभ क्या है, TLS क्या है, Https प्रोटोकॉल क्या है, Http क्या है आदि के बारे में आपको ज्यादा जानकारी दी है

मुझे उमीद है कि आप सभी को “SSL Certificate” के बारे में सब कुछ समझ आ गया होगा फिर भी अगर आपका कुछ सवाल है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में मुझसे पूछ सकते है

Credit By = itznitinsoni


Spread the love