ब्रेस्ट में भारीपन क्यों होता है? ( स्तनों में भारीपन के 10 कारण ) Best Guide 2023

ब्रेस्ट में भारीपन क्यों होता है? स्तनों में भारीपन के यह 10 कारण समझें

Breast Pain Reason in Hindi: – ब्रेस्ट में भारीपन क्यों होता है? एक स्त्री के शरीर के अंदर ब्रैस्ट संवेदनशील हिस्सा होता है जिसका काम मुख्य रूप से हमारे शरीर में होने वाले हार्मोन परिवतन पर निर्भर होता है अक्सर लड़कियों के साथ ऐसी कई बार होता है

जब उनके स्तन ढीले, भारी, खिचे हुए हो जातें है लेकिन ऐसी स्थिति में महिला को बहुत परेशानी होती है कभी कभी कुछ महिलाओ के स्तनों में अचानक दर्द होने लगता है जिसके बाद वह परेशान होने लगती है हाँ मैं जानता हूँ कि ऐसे में महिला का परेशान होना पुरी तरह से स्वाभिक है

परन्तु ऐसे समय पर अधिकतर महिलाये डॉक्टर की सलाह नहीं लेती है हमारी रिसर्च के मुताबिक हजारो लड़कियां सर्च इंजन गूगल में ब्रैस्ट में भारीपन के कारण को जानने के लिए यह लिखकर सर्च करती है कि लड़कियों के ब्रैस्ट में भारीपन क्यों होता है?

ब्रेस्ट में भारीपन क्यों होता है? ( स्तनों में भारीपन के 10 कारण ) Best Guide 2023

इसीलिए इस लेख के अंदर हमने उन सभी कारण के बारे में बताया है जिनकी वजह से स्त्री के ब्रैस्ट में भारीपन होता है चलिए अब हम यह जान लेतें है कि स्तनों में भारीपन क्यों होता है?

ब्रेस्ट में भारीपन क्यों होता है? ( ब्रैस्ट में भारीपन होने के क्या कारण होतें है )

Table of Contents

कई कारण से एक स्त्री को ब्रैस्ट में भारीपन का एहसास देखने को मिलता है लेकिन महिलाओ के शरीर में स्तनों के अंदर भारीपन का अनुभव मुख्य रूप से उनका वजन बढ़ने के कारण होता है क्योकि इस दौरान, महिला के स्तन का भार अधिक होता है

यहाँ गुरुत्वाकर्षण के कारण स्त्री के, स्तन नीचे लटक जातें है जिसके कारण महिलाओ को स्तनों में भारीपन लगता है लेकिन महिलाओ के ब्रैस्ट में भारीपन महसूस होने के कई सारे कारण हो सकतें है जो इस प्रकार है –

  1. पीठ, गर्दन, सिर दर्द के कारण
  2. स्तनों की संरचना के कारण
  3. महिला को स्तन कैंसर होना
  4. वजन का कम – ज्यादा होना
  5. स्तनों में सुजन के कारण
  6. बच्चे के जन्म के बाद, स्तनपान के कारण
  7. हार्मोन के बदलाव के कारण
  8. शरीर में मांसपेशियों का विकास होना
  9. प्रेगनेंसी के दौरान, भारीपन महसूस होना
  10. एक्सरसाइज अथार्थ जिम के कारण

पीठ, गर्दन, सिर दर्द के कारण

कभी कभी महिलाओ को सिर, पीठ, गर्दन, में दर्द के दौरान अपने स्तनों में भारीपन का एहसास होता है ऐसा होने का सबसे मुख्य कारण, स्त्री के शरीर में होने वाली कमजोरी और थकान होती है

क्योकि इसकी वजह से स्त्री को अपने स्तनों का भार अधिक लगने लगता है जिसके कारण लड़कियों को अपने सतनो में भारीपन लगने लगता है

स्तनों की संरचना के कारण

कभी कभी महिलाओ के शरीर के अंदर स्तानो के आकार के कारण उनमे भारीपन का अनुभव होता है साधारण भाषा में कहा जाए तो स्तनों के साइज़ का प्रभाव महिलओं के स्तनों में भारीपन की समस्या को पैदा करता है

महिला को स्तन कैंसर होना

इस बात में कोई संदेह नहीं है कि कुछ परिस्थिति में महिलाओ के स्तन में भारीपन का एहसास, स्तन कैंसर के कारण होता है जैसे जैसे इस दौरान, स्तनों में सुजन और ट्यूमर बढ़ता है उस दौरान महिला के स्तनों का वजन भी बढ़ने लगता है जिसके कारण महिलाओ को अपने स्तनों में भारीपन लगता है

वजन का कम – ज्यादा होना

यह बात पुरी तरह से लोजिक के ऊपर आधारित है कि कम वजन वाले स्तनों की तुलना में अधिक वजन वाले स्तनों में अधिक भारीपन महसूस होता है ऐसा होने का सबसे मुख्य कारण गुरुत्वाकर्षण होता है

साधारण भाषा में कहा जाए तो अधिक वजन वाले स्तन सीधे खड़े होने पर नीचे की तरफ लटक जातें है जिसके कारण महिला को अपने स्तनों में भारीपन का एहसास होता है

स्तनों में सुजन के कारण

कई बार महिलाओ के पुरे जीवन में उनके स्तनों का आकार बदलने और सुजन रहने के कारण घाव हो जातें है इन निशान को मेडिकल भाषा में फ़ाइब्रोसिस्टिक कहतें है इस दौरान महिलाओ के स्तन भारी और कठोर होने लागतें है जिसके बाद महिलाओ को ब्रैस्ट में भारीपन का अनुभव होने लगता है

बच्चे के जन्म के बाद, स्तनपान के कारण

हम सब यह जानतें है कि हर स्त्री, शादी करती है लेकिन शादी के बाद जब, बच्चा पैदा होने पर उसके स्तनपान के कारण महिला को अपने स्तनों में भारीपन का एहसास होता है क्योकि इस दौरान, बच्चे के लिए, स्त्री के स्तनों में दूध का निर्माण होना शुरू होता है

ऐसे में स्तनों में दूध की मात्रा के कम ज्यादा होने पर भी महिलाओ को अपने स्तनों में भारीपन महसूस होने लगता है

हार्मोन के बदलाव के कारण

कई बार महिलाओ के शरिर में होने वाले हार्मोन के परिवर्तन के कारण उनके स्तनों में भारीपन का एहसास होता है क्योकि जब स्त्री के शरीर के अंदर एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन आदि हार्मोन बढतें है इस दौरान स्त्री के शरीर के अंदर स्तन की ग्रंथियों और नलिकाओं का आकार भी बढ़ता है

ऐसी स्थिति में महिला के स्तनों की ग्रंथियों और नलिकाओं सिकुड़ जाती है

शरीर में मांसपेशियों का विकास होना

हम सब जानतें है कि हमारे शरीर में मांसपेशियों का विकास होता है लेकिन एक स्त्री के शरीर के अंदर मांसपेशियों का विकास होने के कारण उनको अपने स्तनों में भारीपन का अनुभव होता है क्योकि स्त्री के शरीर में मांसपेशियों के विकास के कारण उसके स्तनों के आकार और बनावट में परिवर्तन होता है

प्रेगनेंसी के दौरान, भारीपन महसूस होना

प्रेगनेंसी के समय जब जैसे जैसे महिला के गर्भ में बच्चे का विकास होने लग जाता है वैसे वैसे महिला के शरीर का वजन बढ़ने लगता है ऐसी स्थिति में महिलाओ को स्तनों में दर्द और भारीपन की समस्या हो सकती है

एक्सरसाइज अथार्थ जिम के कारण

कभी कभी कुछ महिलाये, अपने आप को फिट रखने के कारण एक्सरसाइज को शुरू करती है ऐसी स्थिति में लड़कियां जिम जाना शुरू कर देती है लेकिन एक्सरसाइज करने से उनके शरीर का वजन कम होने लगता है ऐसी स्थिति में महिलाओ को अपने स्तनों में भारीपन का अनुभव होता है

मेरे ब्रैस्ट में भारीपन है? क्या मुझे डॉक्टर से मिलना चाहिए?

ऐसा सवाल कई बार महिलाओ के मन में आता रहता है क्योकि जब किसी महिला के स्तनों में अधिक दर्द या भारीपन होता है तो वह डॉक्टर को दिखाने के ऊपर विचार करने लगती है यह सोचना पुरी तरह से सही होता है अधिकतर हल्के दर्द के मामले में महिलाएं डॉक्टर के पास नहीं जाती है

लेकिन कुछ महिलाओ के शरीर में प्रेगनेंसी के दौरान, स्तनपान के दौरान ब्रैस्ट में दर्द होता है परन्तु ऐसी स्थिति महिलाओ को एक बार किसी अच्छे डॉक्टर से मिलना चाहिए और अगर आपको ब्रैस्ट कैंसर है तो ऐसी स्थिति में आपको डॉक्टर से सलाह लेना महत्वपूर्ण हो जाता है

इस दौरान, महिलाओ को बिना किसी अच्छे डॉक्टर के बाताये किसी भी दवाई का उपयोग नहीं करना चाहिए

यहाँ ध्यान देने वाली बाद यह है कि एकदम से महिला को ब्रैस्ट में भारीपन का अनुभव होना, उसके शरीर में होने वाले हार्मोन परिवर्तन के कारण नहीं हो सकता है अगर किसी महिला के साथ ऐसा होता है तो उसको तुरंत किसी अच्छे डॉक्टर को दिखाना चाहिए

Read More Articles: – 

FAQ

स्तन का भारीपन किस कारण से होता है?

स्तन में भारीपन का अनुभव होने के कई सारे कारण होतें है लेकिन उनमे से 10 मुख्य कारण के बारे में इस लेख में बताया गया है जिसमे शारीरिक दर्द होना, हार्मोन का बदलाव, वजन का कम ज्यादा, स्तनपान, प्रेगनेंसी होना आदि शामिल है

मेरे स्तन अचानक बड़े क्यों हो रहे हैं?

नेचुरल रूप से स्तनों का आकार महिलाओ के शरीर में होने वाले हार्मोन परिवर्तन के कारण बढ़ता है यह महिलाओ के स्तनों का आकार बढ़ने का प्राक्रतिक तरीका है लेकिन किसी भी महिला के स्तनों का आकार अचानक बढ़ा नहीं हो जाता है वह धीरे धीरे बढ़ता है

ब्रेस्ट में चुभन क्यों होती है?

ब्रैस्ट में चुभन होने का कारण आपके ब्रा में कुछ चीज का फसा हुआ होना हो सकता है क्योकि जब कोई महिला बिना चेक किये अपनी ब्रा को पहन लेती है तो ऐसी स्थिति में उसमे स्थित कोई चुभने वाली चीज के कारण उसको ब्रैस्ट में चुभन होती है

कौन सा हार्मोन स्तन बढ़ाता है?

महिलाओ के शरीर के अंदर, पीरियड से पहले एस्ट्रोजन हार्मोन का उत्पादन शुरू हो जाता है यह महिलाओ के स्तनों के ऊपर प्रभाव डालता है समय के साथ साथ स्त्री के शरीर में हार्मोन के बदलाव के कारण, उसके स्तनों का आकार बढ़ता है

आपने क्या सीखा

इस लेख के अंदर हमने महिलाओ के स्तनों में होने वाले भारीपन से संबंधित महत्वपूर्ण इनफार्मेशन को शेयर किया है यही कारण है कि यह लेख सभी महिलाओ और लडकियों के लिए बहुत अधिक उपयोगी है

नोट – अगर किसी महिला को अपने ब्रैस्ट में अधिक भारीपन का अनुभव होता है तो ऐसी स्थिति में अच्छे डॉक्टर से मिलना महत्वपूर्ण कदम होता है 

मुझे उमीद है कि आप सभी को ब्रेस्ट में भारीपन क्यों होता है? के बारे में सब कुछ समझ आ गया होगा फिर भी अगर आपका कुछ सवाल है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में मुझसे पूछ सकते है

Credit By = itznitinsoni

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top